close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

खाद्य भंडारण पर नए अमेरिकी प्रस्ताव का भारत ने किया विरोध

भारत व जी-33 समूह के अन्य सदस्यों ने विकासशील देशों में खाद्य सुरक्षा के लिए खाद्य भंडारण के विवादास्पद मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए अमेरिका के नये प्रस्ताव का विरोध किया है। इन देशों ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) में औपचारिक बैठक में अपना विरोध जताया। यह इस साल की दूसरी बैठक थी।

जिनेवा : भारत व जी-33 समूह के अन्य सदस्यों ने विकासशील देशों में खाद्य सुरक्षा के लिए खाद्य भंडारण के विवादास्पद मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए अमेरिका के नये प्रस्ताव का विरोध किया है। इन देशों ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) में औपचारिक बैठक में अपना विरोध जताया। यह इस साल की दूसरी बैठक थी।

भारत ने कहा कि अमेरिका के प्रस्ताव से ऐसा परिणाम आ सकता है जहां देशों को यह सलाह दी जाए कि उन्हें किसी तरह का खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम अपनाना चाहिए, जो कि मौजूदा समझौते का हिस्सा नहीं है। भारत का कहना है कि इस प्रक्रिया का परिणाम खाद्य की सार्वजनिक भंडारण पर फैसला हो सकता है जो कि तय व्यवस्था के प्रतिकूल है।

भारत की अगुवाई वाला जी-33 चाहता है कि खाद्य सुरक्षा के लिए सार्वजनिक भंडारण ‘ग्रीन बाक्स’ के अधीन आना चाहिए। इस समूह में चीन व फिलीपीन शामिल है। जिनीवा स्थित विश्व व्यापार संगठन के मुख्यालय में श्रुकवार को जी 33 देशों ने अमेरिकी प्रस्ताव पर बहस की। इस सौदे को अमली जामा पहनाने के लिए कई प्रस्तावों में यह प्रस्ताव भी शामिल है।

इस प्रस्ताव के तीन प्रमुख तत्वों में मौजूदा खाद्य सुरक्षा कार्य्रकमों की कुशलता व व्यापार पर उनके असर की समीक्षा, खाद्य सुरक्षा कार्य्रकम के कार्यान्वयन से सामने आने वाली वास्तविक व संभावित समस्याओं का आंकलन तथा खाद्य भंडारण के बारे में श्रेष्ठ व्यवहार व सिफारिशें तैयार करना शामिल है।