close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ब्रिटेन के भारतीय उद्योगपतियों ने स्वच्छ गंगा मिशन के लिए 5 अरब डॉलर के निवेश की प्रतिबद्धता जताई

सड़क परिवहन मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘ब्रिटेन में भारतीय उद्यमियों, प्रवासी भारतीयों तथा भारतीय मूल के लोगों ने नमामी गंगे मिशन के तहत घाटा, नदी का किनारा आदि जैसी सुविधाओं के विकास के लिये 5 अरब डालर से अधिक निवेश की प्रतिबद्धता जताई.’’ 

ब्रिटेन के भारतीय उद्योगपतियों ने स्वच्छ गंगा मिशन के लिए 5 अरब डॉलर के निवेश की प्रतिबद्धता जताई
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सरकार ने गुरुवार को कहा कि ब्रिटेन में भारतीय उद्यमियों ने नमामी गंगे मिशन के तहत विकास परियोजनाओं में 5 अरब डॉलर की प्रतिबद्धता जताई. सड़क परिवहन, राजमार्ग, पोत परिवहन एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने लंदन में शुक्रवार को आयोजित बैठक में उद्यमियों से स्वच्छ गंगा मिशन में शामिल होने की अपील की. इस बैठक का आयोजन स्वच्छ गंगा मिशन तथा ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग ने किया.

सड़क परिवहन मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘ब्रिटेन में भारतीय उद्यमियों, प्रवासी भारतीयों तथा भारतीय मूल के लोगों ने नमामी गंगे मिशन के तहत घाटा, नदी का किनारा आदि जैसी सुविधाओं के विकास के लिये 5 अरब डालर से अधिक निवेश की प्रतिबद्धता जताई.’’ 

प्रमुख शुरूआती समझौते (एमओयू) में वेदांता समूह के अनिल अग्रवाल का पटना में गंगा नदी से लगे इलाके में घाट तथा अन्य सुविधाओं, फोरसाइट ग्रुप के रवि मेहरोत्रा का कानपुर के लिये, हिंदुजा ग्रुप का हरिद्वार के लिये, इंडो रामा समूह के प्रकाश लोहिया का कोलकाता के लिये किये समझौते शामिल हैं.

ये उद्यमी कंपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहत परियोजनाओं का विकास करेंगे और उसका परिचालन करेंगे. बयान के मुताबिक, ‘‘नदी की सफाई के लिये नई प्रौद्योगिकी के लिये एमओयू पर दस्तखत किये गए.....’’