भारत से 16 अरब डॉलर निकाल चुके निवेशक, फिर भी विकास दर रहेगी सकारात्मक: रिपोर्ट

पूरी दुनिया में आर्थिक मंदी के आसार के बीच देश के लिए ये खबर अच्छी है.

भारत से 16 अरब डॉलर निकाल चुके निवेशक, फिर भी विकास दर रहेगी सकारात्मक: रिपोर्ट
फाइल फोटो

वाशिंगटन: कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी और लॉकडाउन के बीच भारत में आर्थिक संकट जरूर आए हैं. इसके बावजूद 2020 में भारत की विकास दर सबसे सकारात्मक रहने वाली है. अमेरिका कांग्रेस की एक रिपोर्ट में इस बात की खुलासा हुआ है. पूरी दुनिया में आर्थिक मंदी के आसार के बीच देश के लिए ये खबर अच्छी है.

भारत से निवेशकों ने निकाले 16 अरब डॉलर
अमेरिकी कांग्रेस के स्वतंत्र शोध केंद्र ने कोविड-19 के वैश्विक आर्थिक प्रभावों के बारे में अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा, 'विदेशी निवेशकों ने विकासशील एशियाई अर्थव्यवस्थाओं से लगभग 26 अरब डॉलर और भारत से 16 अरब डॉलर से अधिक राशि बाहर निकाली.' शोध केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार लगभग सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं कोरोना वायरस के प्रकोप से नुकसान में हैं, लेकिन केवल तीन देशों भारत, चीन और इंडोनेशिया की विकास दर 2020 में सकारात्मक रहने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें: Lockdown के बाद कारों की बिक्री में होगा जबरदस्त इजाफा, जानें इसकी वजह

रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोप में जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन, स्पेन और इटली में तीन करोड़ से अधिक लोगों ने सरकारी सहायता के लिए आवेदन किया है. वर्ष 2020 की पहली तिमाही के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि यूरोक्षेत्र की अर्थव्यवस्था में 3.8 प्रतिशत की कमी हुई है, 1995 से अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है.

रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में 2020 की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद में 4.8 प्रतिशत की गिरावट आई है, जो 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद सबसे बड़ी गिरावट है.