आज भी बाजार में बड़ी गिरावट की आशंका, ऐसे में क्या हो कमाई की पहली रणनीति

कल की भारी गिरावट के बाद आज भी भारतीय शेयर बाजारों के लिए संकेत अच्छे दिख रहे हैं. SGX Nifty की शुरुआत 55 अंकों की तेजी के साथ हुई है, ये 11300 के आस-पास ट्रेड कर रहा है.

आज भी बाजार में बड़ी गिरावट की आशंका, ऐसे में क्या हो कमाई की पहली रणनीति

नई दिल्ली: कल की भारी गिरावट के बाद आज भी भारतीय शेयर बाजारों के लिए संकेत अच्छे दिख रहे हैं. SGX Nifty की शुरुआत 55 अंकों की तेजी के साथ हुई है, ये 11300 के आस-पास ट्रेड कर रहा है. Dow Futures 36 अंक और Nasdaq Futures 30 अंकों की बढ़त पर खुले लेकिन अब इसमें गिरावट आ गई है. 
एशियाई बाजारों की बात करें तो जापान का बाजार निक्केई आज भी बंद है, बाकी एशियाई बाजारों में कोस्पी, शंघाई कंपोजिट और हैंग सेंग में चौतरफा गिरावट का माहौल है. 

सोमवार को कैसे रहे विदेशी बाजार 
कोरोनावायरस की बढ़ती चिंताओं को लेकर अमेरिकी बाजार कल एक बार फिर बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए हैं. हालांकि इंट्रा डे में डाओ जोंस ने 900 अंकों का गोता लगाया था, अंत में ये 400 अंक रिकवर होकर 510 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ, S&P500 38 अंक की गिरावट पर बंद हुआ है. डाओ जोंस और S&P500 दोनों ही करेक्शन जोन की ओर बढ़ रहे हैं, यानि अपनी ऊंचाई से 10 परसेंट तक टूटने की कगार पर हैं. टेक्नॉलॉजी शेयरों के खराब प्रदर्शन के चलते नैस्डेक में पहले ही करेक्शन की कैटेगरी में पहुंच चुका है. हालांकि सोमवार को नैस्डेक में सोमवार को 14 अंक नीचे बंद हुआ. सोमवार को Apple के शेयरों में 3 परसेंट की तेजी दिखाई दी, Microsoft भी 1 परसेंट से ज्यादा चढ़ा.  
 
UK आज बार और रेस्टोरेंट्स को लेकर नए प्रतिबंध जारी करेगा. UK में एक बार फिर लॉकडाउन लगाया जा सकता है, प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आज इस पर अपना बयान जारी करेंगे. ब्रिटेने के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि अक्टूबर से UK में 50 हजार से भी ज्यादा कोरोना मरीज आना शुरू होंगे. इसके अलावा बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए जर्मनी, फ्रांस जैसे देश भी अब फिर से लॉकडाउन लगाने पर विचार कर रहे हैं. इन सब चिंताओं के चलते सोमवार को यूरोपीय बाजार बड़ी गिरावट की चपेट में आ गए. फ्रांस का CAC40 3.74 परसेंट, जर्मनी का DAX 4.37 परसेंट और ब्रिटेन का FTSE 3.38 परसेंट की बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए. 

आज क्या हैं विदेशी संकेत?
कोरोना महामारी को लेकर फूड एंड ड्रग (FDA ) कमिश्नर स्कॉट गॉटलीब ने महामारी के दूसरे चक्र को लेकर चेतावनी जारी की है. उन्होंने कहा कि अमेरिका में ठंड में या पतझड़ में एक बार फिर महामारी का प्रकोप फैलेगा. फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल बुधवार को कोरोनोवायरस पर बनी एक सेलेक्ट सबकमेटी के सामने पेश होंगे और फेड के उठाए गए कदमों पर अपना बयान देंगे. दूसरी ओर अमेरिका में आर्थिक पैकेज को लेकर अब भी अनिश्चितता बनी हुई है, निवेशक इससे भी नाराज हैं. 

इस दौरान ICIJ (International Consortium of Investigative Journalists) के एक नए खुलासे ने हड़कंप मचा दिया है. ICIJ ने खुलासा किया है कि दुनिया के कुछ बड़े बैंकों ने बीते दो दशक के दौरान खतरनाक और ताकतवर लोगों से मुनाफा कमाया है. जबकि अमेरिका ने उन पर पेनाल्टी भी लगाई. इस संदेहास्पद बैंकिंग ट्रांजैक्शन में HSBC, StandardChartered जैसे बैंकों के नाम आए हैं. इस खबर के बाद कल HSBC का शेयर 1995 के बाद अपने सबसे निचले स्तर पर चला गया. 

इसके अलावा अमेरिका गुरुवार को साप्ताहिक बेरोजगारी के आंकड़े जारी करेगा, इसके अलावा सप्लाई की चिंताओं और कोरोना महामारी के प्रतिबंधों के बढ़ने की खबरों के बीच कच्चे तेल में एक बार फिर उछाल आया है. कच्चा तेल अपने दो हफ्तों के सबसे निचले स्तर से उछलकर ट्रेड कर रहा है, ब्रेंट क्रूड फिलहाल 40 डॉलर के आस पास ट्रेड कर रहा है. 

आज क्या हो रणनीति 
हमारे सहयोगी चैनल ज़ी बिज़नेस के मैनेजिंग एडिटर अनिल सिंघवी के मुताबिक 'भारतीय बाजारों के लिए आज संकेत कमजोरी वाले हैं, कल अमेरिकी बाजारों में निचले स्तरों से काफी अच्छी रिकवरी देखने को मिली, हालांकि इस गिरावट का अंदाजा पहले ही लग गया था. यूरोप के दो बैंकों में संदेहास्पद ट्रांजैक्शन से भी बाजार का मूड थोड़ा बिगड़ा है. चीन के साथ भारत की 11 घंटे तक चली बातचीत के बाद भी कोई अच्छी प्रोग्रेस नहीं देखने को मिली. आज के सेशन में थोड़ा उतार चढ़ाव देखने को मिलेगा.'

अनिल सिंघवी के मुताबिक 'निफ्टी के लिए आज सपोर्ट रेंज 11125-11175 होगी, ऊपरी रेंज 11375-11450 होगी. बैंक निफ्टी के लिए सपोर्ट रेंज 21000-21100 है जबकि सपोर्ट रेंज 21650-21800 है.'

VIDEO