close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिवाली-छठ पर घर जाने का बना लीजिए प्लान, रेलवे करेगा कंफर्म टिकट का इंतजाम!

भारतीय रेलवे (Indian Railway) में कन्फर्म टिकट की समस्या से काफी हद तक निजात मिलेगी. रेलवे ने सबको कंफर्म टिकट दिलाने का मेगा प्लान तैयार किया है. रेलवे ने राजधानी एक्सप्रेस सहित लंबी दूरी की दूसरी ट्रेनों में कोच बढ़ाएगी.

दिवाली-छठ पर घर जाने का बना लीजिए प्लान, रेलवे करेगा कंफर्म टिकट का इंतजाम!
लंबी दूरी की ट्रेनों में कोच बढ़ाएगा भारतीय रेलवे.

नई दिल्ली: त्योहारों का सीजन शुरू हो चुका है. शहरों में रह रहे लोग अपने घर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं. हालांकि उनके मन में एक बात आती है कि ट्रेन में कंफर्म टिकट नहीं मिलेगा तो उन्हें अपने शहर या गांव में त्योहार मनाने का प्लान बदलना पड़ेगा. भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने लोगों की इस समस्या को सुलझाने का प्लान बना लिया है. भारतीय रेलवे (Indian Railway) में कन्फर्म टिकट की समस्या से काफी हद तक निजात मिलेगी. रेलवे ने सबको कंफर्म टिकट दिलाने का मेगा प्लान तैयार किया है. रेलवे ने राजधानी एक्सप्रेस सहित लंबी दूरी की दूसरी ट्रेनों में कोच बढ़ाएगी.

दरअसल, मिशन इलेक्ट्रिफिकेशन का फायदा अब धीरे धीरे सामने आना शुरू हो गया है. मिशन इलेक्ट्रिफिकेशन का एक बड़ा फायदा लोगों को अब ज़्यादा कन्फर्म टिकट के रूप में मिलेगा. देश के अब कई राजधानी या एक्सप्रेस ट्रेन में पावर कार या कोच को हटाकर यात्री डिब्बे लगाए जाएंगे. यहां आपको बता दें कि पावर कोच वह कोच होता है, जिसके जरिये पूरी ट्रेन में किसी भी इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट जैसे लाइट, पंखा, एसी को चलाने के लिए ज़रूरी पावर दी जाती है.

अब पावर कार के बजाय ट्रेन में ज़रूरी पावर सीधे इलेक्ट्रिक लाइन से दी जाएगी. इस वजह से पावर कार के बजाय ट्रेन में ज़रूरी पावर सीधे इलेक्ट्रिक लाइन से दी जाएगी. पावर कार को हटाकर यात्री कोच या डब्बे लगाए जाएंगे. फायदे के नजरिए से देखें तो अगर किसी ट्रेन में 2 पावर कार हटाकर 2 थर्ड एसी डब्बे लगाए जाते हैं तो 144 कन्फर्म सीट उस ट्रेन में ज़्यादा मिल सकेगी.

लाइव टीवी देखें-:

यहां आपको बता दें कि दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता जैसे बड़े महानगरों में उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल और असम के काफी लोग रोजगार के लिए रहते हैं. दिवाली (Diwali 2019) और होली जैसे बड़े त्योहार के मौके पर ये लोग अपने गांव शहर लौटते हैं, लेकिन ट्रेनों में कंफर्म टिकट नहीं मिलने के चलते कई बार उन्हें ये प्लान टालना पड़ जाता है. वहीं बिहार और उत्तर प्रदेश के लोग छठ (Chhath 2019) के मौके पर अपने घर लौटते हैं, लेकिन इनके सामने भी रेल टिकट की भारी समस्या होती है. रेलवे के नए प्लान से ज्यादा लोगों को कंफर्म टिकट मिल पाएगा.

रेलवे रामायण सर्किट ट्रेनों को फिर से चलाएगी
उधर, भारतीय रेल ने इस साल नवंबर में रामायण सर्किट ट्रेनों को फिर से चलाने की योजना बनाई है, जो भगवान राम से जुड़े उन स्थानों तक सेवा प्रदान करेगी, जिनका उल्लेख रामायण में है. पिछले साल यह ट्रेन काफी सफल रही थी. इंडियन रेल केटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) ने 2018 में विशेष पर्यटक ट्रेनों के चार पैकेज चलाए थे. आईआरसीटीसी ने एक बयान में शुक्रवार को कहा कि इस साल नवंबर से दो टूर पैकेज इस सर्किट पर चलाए जाएंगे और पिछले साल की ही तरह इच्छुक यात्री श्रीलंका के स्थानों की भी यात्रा कर पाएंगे. 

यह ट्रेन भगवान राम से जुड़े भारत और श्रीलंका के महत्वपूर्ण गंतव्यों तक ले जाएगी. भारत में जहां ट्रेन से ले जाया जाएगा, वहीं श्रीलंका का टूर चेन्नई से हवाई जहाज से कराया जाएगा. आईआरसीटीसी ने बताया कि 'श्री रामायण यात्रा' नाम की पहली ट्रेन जयपुर से (वाया दिल्ली) 3 नवंबर 2019 को रवाना होगी. इसमें अलवर, रेवाड़ी, दिल्ली सफदरजंग, गाजियाबाद, मुरादाबाद, बरेली और लखनऊ से बोर्डिग, डिबोर्डिग किया जा सकता है. 

अन्य ट्रेन मध्य प्रदेश के इंदौर से 18 नवंबर 2019 को चलेगी. इन ट्रेनों का भारतीय यात्रा का किराया 16 दिन और 17 रातों का 16,065 रुपये है और श्रीलंका यात्रा समेत किराया 36,950 रुपये प्रति व्यक्ति है. रेलवे ने कहा कि पिछले साल की यात्रा काफी सफल रही थी और भारत और श्रीलंका दोनों जगहों के लिए सीटें पूरी तरह से बुक रही थीं.