ट्रेन लेट हुई तो Railway सफर में देगा खाना, रेल मंत्री ने बताई पूरी प्लानिंग

 यात्री सुविधाओं पर लगातार काम कर रही भारतीय रेलवे अब नई सुविधा देने की तैयारी कर रही है.

ट्रेन लेट हुई तो Railway सफर में देगा खाना, रेल मंत्री ने बताई पूरी प्लानिंग

नई दिल्ली : यात्री सुविधाओं पर लगातार काम कर रही भारतीय रेलवे अब नई सुविधा देने की तैयारी कर रही है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा कि रेलवे की तरफ से समय की पाबंदी, सफाई और कैटरिंग पर लगातार ध्यान दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इन तीनों मामलों पर हम सातों जोन में रिव्यू पूरा कर चुके हैं. जल्द ही इन चीजों में और सुधार दिखाई देगा. रेल मंत्री ने कहा कि समय की पाबंदी के लिए किसी भी प्रकार से सुरक्षा से समझौता नहीं किया जाएगा.

यात्रियों को सफाई के प्रति जागरूक किया जाएगा
उन्होंने कहा हमारी मंशा है कि साफ-सफाई को बढ़ाने में रेलवे की अहम हिस्सेदारी हो. यात्रियों को सफाई के प्रति जागरूक किया जाएगा. उन्होंने बताया हम ऐसी व्यवस्था पर काम कर रहे हैं जिसमें अगर ट्रेन खाने के समय पर लेट होती है तो यात्रियों के लिए खाने और पानी दोनों की व्यवस्था की जाएगी. गौरतलब है कि अप्रैल में रेलवे ने राजधानी और दुरंतो ट्रेन के लेट होने पर यात्रियों को पानी की बोतल देने की व्यवस्था की है.

लेट होने पर राजधानी में पानी की बोतल मिलेगी
दरअसल रेलवे ने नियम बनाया है कि अगर राजधानी या दुरंतो से सफर करने के दौरान ट्रेन के देरी से चलने के कारण आपकी यात्रा में 20 घंटे से ज्यादा का वक्त लगता है तो आपको पानी की एक अतिरिक्त बोतल दी जाएगी. अभी राजधानी, दुरंतो और शताब्दी ट्रेनों से सफर करने वाले मुसाफिरों को सीट पर बैठते ही रेल नीर की पानी की एक बोतल और डिस्पोजेबल कप मिलता है. यात्रा में ज्यादा समय लगने पर पानी की बोतल निशुल्क मिलेगी.

इसके अलावा यात्री सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए रेलवे सभी ट्रेनों में बायो टॉयलेट लगाने के बाद 'उन्नत' किस्म के वैक्यूम बायो टॉयलेट लगाने पर भी विचार कर रहा है. रेलवे की तरफ से हाल ही में यात्रियों के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए दो ऐप 'रेल मदद' और दूसरी 'मेन्यू ऑन रेल' भी लॉन्च किए हैं. इन एप के जरिए यात्रा के वक्त किसी भी तरह की तकलीफ नहीं होगी. साथ ही खान-पान की व्यवस्था में भी सुधार होगा. ऐप को लॉन्च करने के पीछे रेलवे का मकसद बेहतर सुविधा प्रदान करना है.