close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Indian Railways: तत्काल रिजर्वेशन के जान लें ये नियम, झट से मिलेगा टिकट

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने मुसाफिरों की सहुलियत के लिए कई कदम उठाए हैं. पिछले एक दशक में रेलवे ने ट्रेनों में सीट से लेकर सफाई और यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कई सुधार किए.

Indian Railways: तत्काल रिजर्वेशन के जान लें ये नियम, झट से मिलेगा टिकट

नई दिल्ली : भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने मुसाफिरों की सहुलियत के लिए कई कदम उठाए हैं. पिछले एक दशक में रेलवे ने ट्रेनों में सीट से लेकर सफाई और यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कई सुधार किए. इसके अलावा ऑनलाइन टिकट बुकिंग सिस्टम को भी मजबूत बनाया गया है. फर्जी एजेंट्स पर रोक लगाई गई. आम यात्रियों को टिकट के लिए कड़ी मशक्कत न करनी पड़े, इसके लिए भी ठोस व्यवस्था की गई.

रेलवे ने टिकट बुकिंग के लिए अलग-अलग विंडो के हिसाब से श्रेणी के समय में भी तय कर रखा है. जनरल टिकट बुकिंग के लिए IRCTC की वेबसाइट से सुबह 8 बजे से बुकिंग की जा सकती है. अगर आप भी ऑनलाइन टिकट बुकिंग कराने की सोच रहे हैं तो जरूर इन नियमों को जान लें.

तत्काल टिकट के क्या हैं नियम?
IRCTC की वेबसाइट सुबह 8 बजे खुलती है. लेकिन, यह सिर्फ सामान्य टिकट बुकिंग के लिए होती है. वहीं, तत्काल के लिए समय अलग हैं. हालांकि, इसमें भी AC और नॉन AC टिकट बुकिंग का समय अलग है. तत्काल में एसी क्लास के लिए टिकट बुक कराने के लिए 10 बजे से बुकिंग शुरू होती है. वहीं, नॉन-एसी टिकटों की बुकिंग इसके एक घंटे बाद यानी 11 बजे से शुरू होती है. बुकिंग शुरू होने के आधे घंटे तक अधिकृत एजेंट तत्काल टिकट नहीं बुक कर सकते हैं.

एक यूजर बुक करा सकता है दो टिकट
एक यूजर आईडी से दिन में सिर्फ 2 तत्काल टिकट बुक किए जा सकते हैं. वहीं, एक आईपी एड्रेस से भी अधिकतम 2 तत्काल टिकट बुक हो सकते हैं. एक यूजर लॉगिन से सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच केवल एक बुकिंग की जा सकती है, जिसमें आने-जाने दोनों की टिकट की टिकट शामिल हैं. अगर दोबारा टिकट बुक करनी है तो इसके लिए लॉग-आउट करके दोबारा लॉगिन करना होगा. एक यूजर आईडी से एक महीने में अधिकतम 6 टिकट और आधार से लिंक होने पर 12 टिकट बुक किए जा सकते हैं.

क्या है रिफंड के नियम?
नियमों के मुताबिक, कुछ शर्तों के साथ तत्काल टिकट पर 100 फीसदी रिफंड की भी सुविधा है. ट्रेन डिपार्चर के 2 घंटे लेट होने, रूट बदलने, बोर्डिंग स्टेशन से ट्रेन के नहीं जाने और कोच डैमेज होने या बुक टिकट वाली श्रेणी में यात्रा की सुविधा नहीं मिलने पर 100 फीसदी रीफंड मिलता है. IRCTC ने रजिस्ट्रेशन, लॉग इन और बुकिंग पेज पर कैप्चा कोड की व्यवस्था की है. ऑटोमेशन सॉफ्टवेयर के जरिए होने वाली टिकट बुकिंग पर रोक लगाने के मकसद से कैप्चा कोड की व्यवस्था की गई है. साथ ही पेमेंट ऑप्शंस के लिए OTP की भी सुविधा है.

भारतीय रेलवे, Indian Railways, tatkal reservation rules, tatkal rules

यह भी देखें- 

 

कितने दिन पहले हो सकता है रिजर्वेशन?
लंबी दूरी की ज्यादातर ट्रेनों के लिए 120 दिन पहले से बुकिंग शुरू हो जाती है. यात्रा के दिन को 120 दिनों में शामिल नहीं किया जाता. 120 दिन की गणना करने के लिए IRCTC की टिकट बुकिंग वेबसाइट पर दिए कैलकुलेटर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. दिन में चलने वाली और कम दूरी की कुछ ट्रेनों की बुकिंग अवधि 30 दिन और 15 दिन भी है. विदेशी नागरिक यात्रा से 360 दिन पहले टिकट बुक करा सकते हैं.