इन्फोसिस में नौकरियों की बहार, अगले दो साल में होगी 12000 इंजीनियरों की भर्ती

कंपनी के सह-संस्थापक नंदन निलेकणि का गैर-कार्यकारी चेयरमैन बनाया गया. सिक्का के जाने के बाद राव ने अंतरिम सीईओ और प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार संभाला.

इन्फोसिस में नौकरियों की बहार, अगले दो साल में होगी 12000 इंजीनियरों की भर्ती
इन्फोसिस ने अवसरों को भुनाने और वीजी संबंधी मुद्दों के कारण ये नियुक्तियां बढ़ायी हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: इन्फोसिस अगले एक-दो साल सालाना करीब 6,000 कर्मचारियों की नियुक्ति करेगी. पिछले वित्त वर्ष में भी कंपनी ने इतनी ही नियुक्तियां की थी. कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी. देश की दूसरी सबसे बड़ी साफ्टवेयर सेवा कंपनी ने अमेरिका और यूरोपीय बाजारों में नियुक्ति प्रक्रियाओं को बढ़ाया है. कंपनी ने अवसरों को भुनाने और वीजी संबंधी मुद्दों के कारण ये नियुक्तियां बढ़ायी हैं.

इन्फोसिस के अंतरिम सीईओ और प्रबंध निदेशक यूबी प्रवीण राव ने पिछले सप्ताह निवेशकों के साथ बैठक में कहा, ‘‘...हम नियुक्ति जारी रखेंगे. अभी जो साल खत्म हुआ है, हमने शुद्ध रूप से 6,000 नियुक्तियां की हैं औरअगले एक-दो साल में इतनी ही लोगों को और नियुक्त करने की उम्मीद है जो बाजार में वृद्धि की स्थिति पर निर्भर करेगा.’’

बेंगलुरु की कंपनी पिछले कुछ महीनों से सुर्खियो में है. संस्थापक और पूर्व निदेशक मंडल सदस्यों के बीच कथित कंपनी संचालन में गड़बड़ी और अनियिमितता को लेकर मतभेद थे. इस विवाद के कारण कंपनी के तत्कालीन मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिक्का को इस्तीफा देना पड़ा. साथ ही पूर्व चेयरमै शेषसायी और निदेशक मंडल के तीन अन्य सदस्यों ने कंपनी छोड़ दी.

कंपनी के सह-संस्थापक नंदन निलेकणि का गैर-कार्यकारी चेयरमैन बनाया गया. सिक्का के जाने के बाद राव ने अंतरिम सीईओ और प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार संभाला.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.