जुलाई से शुरू हो सकती हैं इंटरनेशनल फ्लाइट्स, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने दिए संकेत

सरकार जल्द ही पूरी तरह से अंतरर्राष्ट्रीय हवाई सेवा को शुरू कर सकती है, अगर कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार में जून तक कमी आ जाती है.

जुलाई से शुरू हो सकती हैं इंटरनेशनल फ्लाइट्स, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने दिए संकेत
फाइल फोटो

नई दिल्लीः सरकार जल्द ही पूरी तरह से अंतरर्राष्ट्रीय हवाई सेवा को शुरू कर सकती है, अगर कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार में जून तक कमी आ जाती है. इसके लिए सरकार ने अपनी तरफ से तैयारी शुरू कर दी है. गौरतलब है कि सरकार ने 25 मई से हवाई सेवाओं को शुरू करने की इजाजत दे दी है.

इस महीने से शुरू हो सकती है पूरी तरह से सेवा
नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि सरकार ने फिलहाल घरेलू हवाई सेवा को शुरू करने के लिए 25 मई की तारीख तय की है. हालांकि अभी कुछ चुनिंदा रूटों पर हवाई सेवा चालू होगी. वहीं इंटरनेशनल फ्लाइट को शुरू करने के लिए भी विमानन मंत्री ने संकेत दे दिया है.

पुरी ने कहा कि हम अगस्त-सितंबर तक का क्यों इंतजार करेंगे? अगर वायरस की रफ्तार कम हुई तो हमें इसके साथ रहने की आदत डालनी होगी. हम कोशिश करेंगे कि जून के मध्य या फिर जुलाई के पहले हफ्ते में इंटरनेशनल फ्लाइट्स को शुरू कर देंगे.  

कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिये केंद्र ने 25 मार्च से राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू किया था और तब से सरकार ने सभी वाणिज्यिक यात्री उड़ान सेवाएं स्थगित कर दी थी. पुरी ने एक फेसबुक लाइव सत्र के दौरान कहा, "मुझे पूरी उम्मीद है कि अगस्त या सितंबर से पहले हम पूर्ण रूप से ना सही, लेकिन अच्छी-खासी संख्या में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन को फिर से शुरू करने की कोशिश करेंगे." 

उन्होंने कहा, "मैं इसकी तारीख (अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की) नहीं बता सकता लेकिन यदि कोई व्यक्ति कहता है कि क्या यह अगस्त या सितंबर तक हो सकता है, तो मेरा जवाब होगा कि इससे पहले क्यों नहीं और यह यह स्थिति पर निर्भर करता है." 

अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव बोलते हुए सिंह ने कहा कि अंतरर्राष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी व एयरलाइंस कंपनियां पूरी तरह से तैयार हैं. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि सभी एयरपोर्ट और एयरलाइंस को 25 मई से क्रमिक रूप से घरेलू उड़ानें शुरू करने के बारे में सूचित किया गया है. हालांकि मंत्रालय यात्रियों की आवाजाही के लिए गाइडलाइंस अलग से जारी करेगा. उसमें स्‍पेशल ऑपरेटिंग प्रॉसीजर (SOP) यानी यात्रा के लिए अनिवार्य शर्तों और मानकों के बारे में जानकारी दी जाएगी.  

कोरोना के चलते एयरपोर्ट, एयरलाइन, हवाई मुसाफिरों और सुरक्षा एजेंसियों को स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर ( SOP) का पालन करना होगा. मास्क और सोशल डिस्‍टेंसिंग सबसे ज़रूरी है. इस संबंध में नागर विमानन मंत्री ने कहा कि घरेलू उड़ानों का परिचालन 25 मई से क्रमिक तरीके से शुरू किया जाएगा. कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जब 25 मार्च को पहला लॉकडाउन लागू हुआ था, उसके बाद से ही कमर्शियल उड़ानों पर भी रोक लगा दी गई थी.

इन गाइडलाइंस का करना होगा पालन
एयरपोर्ट में ये चीजें होंगे जरूरी...
- एयरपोर्ट में प्रवेश के लिए आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य, बिना आरोग्य सेतु ऐप के एंट्री नहीं होगी
- 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य नहीं
- एयरपोर्ट टर्मिनल में प्रवेश से पहले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी
- आरोग्य सेतु ऐप में जिन यात्रियों का Green Signal नहीं दिखेगा, उन्हें प्रवेश नहीं मिलेगा

वो सर्विस जो अब नहीं मिलेंगे एयरपोर्ट में
- प्रस्थान और आगमन पर ट्रॉली का इस्तेमाल कम से कम किया जाएगा
- सिर्फ जिन्हें बहुत ज्यादा जरूरत होगी वही ट्रॉली का इस्तेमाल कर सकेंगे
- एयरपोर्ट टर्मिनल व लाउंज  में अखबार और मैगजीन रखने की इजाजत नही

ये भी देखें-