बेहद आसान है अपने PF खाते से पैसा निकालना, बस इन नियमों का रखें ध्यान

यहां हम आपको बता रहे हैं बेहद आसान तरीका जिसकी मदद से आप तुरंत ऑनलाइन पैसा निकाल सकते हैं. लेकिन ध्यान रह पीएफ खाते (PF Account) से पैसा निकालने के कुछ नियम और शर्तें भी हैं. अगर इनका पालन नहीं हुआ तो पैसा निकलना मुमकिन नहीं है.

बेहद आसान है अपने PF खाते से पैसा निकालना, बस इन नियमों का रखें ध्यान

सभी नियमित कर्मचारियों की सैलरी से प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) कटता है. श्रम मंत्रालय के कानून के तहत कंपनियों को ये पैसा काटना अनिवार्य भी है. लेकिन कई बार आपको अचानक पैसे की जरूरत पड़ सकती है. ऐसे में आप अपने पीएफ  खाते (PF Account) से पैसा निकलाना तो चाहते हैं लेकिन प्रोसेस की जानकारी नहीं होने की वजह से इसके इस्तेमाल से वंचित रह जाते हैं. यहां हम आपको बता रहे हैं बेहद आसान तरीका जिसकी मदद से आप तुरंत ऑनलाइन पैसा निकाल सकते हैं. लेकिन ध्यान रह पीएफ खाते से पैसा निकालने के कुछ नियम और शर्तें भी हैं. अगर इनका पालन नहीं हुआ तो पैसा निकलना मुमकिन नहीं है.

ऑनलाइन आवेदन करते वक्त आपको इन नियम-शर्तों को ध्यान में रखना होता है. अगर ध्यान नहीं दिया तो क्लेम फंसने के चांस रहते हैं. हमारे सहयोगी zeebiz.com के अनुसार क्लेम करने के लिए सबसे पहले https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/portal जाना पड़ेगा.

क्या हैं नियम और शर्तें?
EPF खाते से ऑनलाइन पैसा निकालने के लिए कुछ नियम और शर्तें हैं. 
मेंबर का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) एक्टिव होना चाहिए. 
EPF अकाउंट में दर्ज आपका बैंक खाता-आधार से लिंक होना चाहिए.
कंपनी की तरफ से e-KYC की मंजूरी और वेरिफिकेशन होना जरूरी है.
अगर आपका केवाईसी या बैंक डिटेल्स पूरी नहीं हैं तो निकासी का क्लेम न भरें.
आवेदन करने से पहले UAN लॉग-इन करके 'मैनेज' ऑप्शन में जाएं. यहां 'केवाईसी' पर क्लिक करके आधार नंबर और बैंक का ब्योNरा दें.
नौकरी छोड़ने पर ऑनलाइन क्ले्म सुविधा को कम से कम दो महीने के बाद इस्ते.माल किया जा सकता है. 
नौकरी छोड़ने के तुरन्त बाद क्लेम करने पर पैसा फंस सकता है. साथ ही इसके लिए कंपनी की मंजूरी जरूरी होगी.

ये भी देखें-

ये भी पढ़ें: GOOD NEWS! अगले तीन महीने आएगी ज्यादा सैलरी, PF खाते में खुद पैसा डालेगी मोदी सरकार

कैसे करें ऑनलाइन क्लेम?
मेंबर 'ऑनलाइन सर्विसेज' टैब पर क्लिक करके 'क्लेसम' फॉर्म का चयन करें.
कंपोजिट फॉर्म नंबर 31, 19, 10C और 10D होता है.
मेंबर की जानकारी पेज पर अपडेट कर दी जाती है.
रजिस्टर्ड बैंक खाते के अंतिम चार अंकों को डालने की जरूरत पड़ती है.
बैंक अकाउंट वेरिफ‍िकेशन के लिए आगे बढ़ने से पहले 'सर्टिफिकेट ऑफ अंडरटेकिंग' को अप्रूव करने की जरूरत पड़ती है.
वेरिफाई होने पर मेंबर को 'प्रोसीड फॉर क्लेेम' पर क्लिक करना पड़ता है.
विदड्रॉल विकल्प  को चुनकर राशि को अपडेट करने की जरूरत पड़ती है.
चेक की स्कैं ड कॉपी को अपलोड करके मेंबर के एड्रेस को बताने की जरूरत पड़ती है.
पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ऑथेंटिकेशन के लिए ओटीपी भेजा जाता है.
वेरिफिकेशन होने पर क्लेऑम सब्मिट हो जाएगा.