close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जमशेदजी टाटा का घर सबसे खतरनाक इमारतों की सूची में, लोगों को खाली करने को कहा गया

जमशेदजी टाटा का निवास रह चुका 150 साल पुराना एस्प्लेनेड मेंशन यूनेस्को की विरासत इमारत होने के बावजूद जर्जर हालत में है. ये इमारत कभी भी किसी आपता का शिकार हो सकती है. अधिकारियों और संरक्षण विशेषज्ञों के अनुसार, यह बहुमंजिली इमारत ढलवां लोहा के खंभों पर बनी पहली इमारत मानी जाती है.

जमशेदजी टाटा का घर सबसे खतरनाक इमारतों की सूची में, लोगों को खाली करने को कहा गया
जमशेदजी टाटा का निवास रह चुकी है 150 साल पुराना एस्प्लेनेड मेंशन (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :  कभी जमशेदजी टाटा का निवास रह चुका 150 साल पुराना एस्प्लेनेड मेंशन यूनेस्को की विरासत इमारत होने के बावजूद जर्जर हालत में है. ये इमारत कभी भी किसी आपता का शिकार हो सकती है. अधिकारियों और संरक्षण विशेषज्ञों के अनुसार, ब्रिटिश कालीन यह बहुमंजिली इमारत ढलवां लोहा के खंभों पर बनी पहली इमारत मानी जाती है. इसे यूनेस्को के ग्रेड -2 ए विरासत ढांचे की मान्यता मिली है.

ग्रेड 2 के तहत आती है ये इमारत
इस इमारत को संरक्षण के लिहाज से ग्रेड -2 के तहत रखा गया है. इस तरह की इमारतों को विशेष संरक्षण की जरूरत होती है. इस इमारत में 15 परिवारों की रिहायशी इकाइयां और करीब 200 वकीलों के दफ्तर हैं. साथ ही कुछ दूकानें भी हैं. कुछ ही दिन पहले इस इमारत का एक छज्जा ढह गया जिसके बाद इस इमारत को ले कर शंकाएं पैदा हो गई हैं.

ये भी पढे़े : रियल एस्‍टेट में 'बूम', गुड़गांव के मुकाबले नोएडा में ज्‍यादा बिक रहे मकान-फ्लैट

सर्वाधिक खतरनाक इमारतों की सूची में है ये इमारत
महाराष्ट्र आवासीय क्षेत्र विकास प्राधिकरण ने 2010 में इस इमारत को ‘‘ सर्वाधिक खतरनाक ’’ इमारतों की सूची में डाल दिया है. उसने दो बार इसमें रह रहे लोगों से, इमारत खाली करने को कहा है. बहरहाल , निवासी अदालत में चले गए हैं. उनकी दलील है कि इमारत की मरम्मत की जा सकती है और प्राधिकरण को यह करना चाहिए.