वित्त वर्ष 2013-14 में रोजगार 4.4 %, वेतन 14 % बढ़ा: सर्वे

विभिन्न उद्योगों में वर्ष 2013-14 में रोजगार में जहां 4.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई वहीं वेतन में वास्तविक आधार पर 14.05 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। यह बात सरकार के एक सर्वे में कही गयी है।

नई दिल्ली: विभिन्न उद्योगों में वर्ष 2013-14 में रोजगार में जहां 4.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई वहीं वेतन में वास्तविक आधार पर 14.05 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। यह बात सरकार के एक सर्वे में कही गयी है।

वित्त वर्ष 2013-14 के दौरान कांग्रेस नीत संप्रग (UPA) सरकार सत्ता में थी। मई 2014 में भाजपा की अगुवाई में राजग की सरकार सत्ता में आई। उद्योगों के सालाना सर्वे के अनुसार विभिन्न उद्योग में कार्यरत लोगों की संख्या 2013-14 में बढ़कर 1.35 करोड़ हो गयी जबकि 2012-13 में 1.29 करोड़ लोग विभिन्न उद्योगों में नौकरी कर रहे थे। सर्वे के अनुसार कारखाने में कार्यरत कर्मचारियों की मजदूरी 2013-14 में 14.05 प्रतिशत बढ़कर 1.26 लाख करोड़ रुपये हो गयी जो 2012-13 में 1.10 लाख करोड़ रुपये थी।

हालांकि, निवेश का संकेतक माना जाने वाला सकल पूंजी निर्माण आलोच्य वर्ष में 5.62 प्रतिशत घटकर 4.21 लाख करोड़ रुपये रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 4.46 लाख करोड़ रुपये था। सकल स्थिर पूंजी निर्माण भी 2013-14 में घटकर 3.53 लाख करोड़ रुपये रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 3.57 लाख करोड़ रुपये था।

कारखानों का लाभ आलोच्य वर्ष में बढ़कर 4.53 लाख करोड़ रुपये हो गया जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2012-13 में 4.44 लाख करोड़ रुपये तथा 2011-12 में 3.79 लाख करोड़ रुपये था। देश की आर्थिक वृद्धि दर 2013-14 में 6.6 प्रतिशत रही जबकि 2012-13 में यह 5.6 प्रतिशत थी।