close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र सरकार की दूध डेरियों को चेतावनी, प्लास्टिक बंद करो नहीं तो...

उत्पादकों को प्लास्टिक बैग पर प्रोडक्ट का नाम, टाइप और बाय बैक प्राइज लिखने के लिए कहा गया था. इसमें यह भी कहा गया था कि दूध डेयरी 50 माइक्रोन से कम मोटी प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करे.

महाराष्ट्र सरकार की दूध डेरियों को चेतावनी, प्लास्टिक बंद करो नहीं तो...

सुबोध मिश्रा/ नई दिल्ली : महाराष्ट्र सरकार ने दूध डेरियों को चेतावनी दी है कि उन्होंने अगर 15 दिन के अंदर प्लास्टिक का उपयोग बंद कर बाय बैक मेकेनिज्म (Buy Back Mechanism) शुरू नहीं किया तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. पिछले एक साल से प्लास्टिक बंदी में छूट पा रहे उत्पादकों पर सरकार अब सख्त कार्रवाई करने का मूड बना रही है. आपको बता दें महाराष्ट्र प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने प्लास्टिक बंदी के लिए पिछले साल 23 मार्च को नोटिफिकेशन दिया था.

24 जून 2018 को हुई थी प्लास्टिक बंदी
इसके बाद 24 जून 2018 को प्लास्टिक बंदी लागू की गई थी. साथ ही उत्पादकों को प्लास्टिक बैग पर प्रोडक्ट का नाम, टाइप और बाय बैक प्राइज लिखने के लिए कहा गया था. इसमें यह भी कहा गया था कि दूध डेयरी 50 माइक्रोन से कम मोटी प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करे. साथ ही यह भी कहा गया कि बाय बैक प्राइज 50 पैसे से कम नहीं होना चाहिए.

15 दिन में बॉय बैक मेकेनिज्म शुरू करने का आदेश
सरकार की तरफ से बाय बैक मेकेनिज्म प्लास्टिक को रिसाइकल करने के लिए तैयार किया गया था. महाराष्ट्र प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने 15 दिन में बॉय बैक मेकेनिज्म शुरू करने के लिए कहा है. अगर उत्पादक ऐसा नहीं कर पाए तो आने वाले समय में कार्रवाई की जाएगी. दूध डेयरियों को इस साल फरवरी में सभी डिटेल देने के लिए कहा गया था लेकिन वो ये रिपोर्ट नहीं दे पाए.