close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

NDA के सत्ता में लौटने की भविष्यवाणी से सेंसेक्स 1422 अंक उछला, रुपया भी 49 पैसे मजबूत

सेंसेक्स में छह साल से भी अधिक समय का सबसे बड़ा उछाल देखा गया और रुपया रुपये ने डॉलर के मुकाबले दो महीने की सबसे बड़ी मजबूती दर्ज की.  

NDA के सत्ता में लौटने की भविष्यवाणी से सेंसेक्स 1422 अंक उछला, रुपया भी 49 पैसे मजबूत
सरकारी बांड की कीमतों में उछाल दिखा.

मुंबई: आम चुनाओं में मतदान-पश्चात सर्वेक्षणों की रपट में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए सरकार के फिर सत्ता में आने के संकेत से सोमवार को घरेलू शेयर बाजारों तथा रुपये में जोरदारी तेजी आई. सेंसेक्स में छह साल से भी अधिक समय का सबसे बड़ा उछाल देखा गया और रुपया रुपये ने डॉलर के मुकाबले दो महीने की सबसे बड़ी मजबूती दर्ज की. सरकारी बांड की कीमतों में उछाल दिखा. 

बीएसई सेंसेक्स 1,422 अंक उछलकर 39,352.67 अंक पर पहुंच गया. यह इसमें छह साल से भी अधिक समय की सबसे बड़ी तेजी है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सूचकांक भी 421 अंक से अधिक चढ़ गया. यह निफ्टी की पिछले दस साल में एक दिन में आने वाली सबसे बड़ी वृद्धि है. वहीं डॉलर के मुकाबले घरेलू रुपया 49 पैसे मजबूत होकर 69.74 पर पहुंच गया जो दो महीने में एक दिन में सबसे बड़ी तेजी है. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 70.36 रुपये पर खुला और कारोबार के दौरान 69.44 तक चला गया था. दस साल के बांड पर प्रतिफल 7.29 प्रतिशत रहा जो शुक्रवार को 7.36 प्रतिशत पर बंद हुआ था. 

बाजार में चौतरफा लिवाली से बीएसई सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण उछलकर 5,33,463.04 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. सोमवार को कारोबार की समाप्ति पर बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण 1,51,86,312.05 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

लोकसभा चुनावों के लिये सात चरणों का मतदान रविवार को संपन्न होने के बाद जारी ज्यादातर चुनाव सर्वेक्षणों में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान जताया गया है. राजग को 300 से अधिक सीटें मिलने का पूर्वानुमान इसमें लगाया गया है. हालांकि, मतों की गिनती 23 मई को होगी. विश्लेषकों के अनुसार मोदी के दोबारा सत्ता में आने से पहले से चल रहे सुधार आगे भी जारी रहेंगे.

सेंसेक्स में बढ़त पाने वाले शेयरों में इंडसइंड बैंक, स्टेट बैंक, टाटा मोटर्स, यस बैंक, लार्सन एण्ड टुब्रो, एचडीएफसी, मारुति सुजूकी और ओएनजीसी के शेयरों में 8.64 प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की गई. बजाज आटो और इन्फोसिस इन दो शेयरों को छोड़कर सेंसेक्स में शामिल सभी शेयर लाभ में रहे. 

एमके वेल्थ मैनेजमेंट के शोध प्रमुख जोसफ थॉमस ने कहा, ‘‘एक्जिट पोल में मौजूदा सरकार के फिर से सत्ता में लौटने की संभावना व्यक्त किये जाने के बाद घरेलू शेयर बाजार में सभी कारोबारी क्षेत्रों में अप्रत्याशित तेजी का रुख देखा गया.’’ उन्होंने कहा कि तेजी के इस रुख को बरकरार रखने के लिये नई सरकार से निर्णायक नीतिगत पहल की उम्मीद की जाती है. भूमि और श्रम सुधारों को तेजी से आगे बढ़ाने की जरूरत है. इसके साथ ही बैंक प्रणाली में मजबूती लाने और उसके पुनर्गठन का जो अधूरा काम रह गया है उसे जल्द से जल्द पूरा करना होगा.

इस बीच, बाजार में भारी तेजी को देखते हुए पूंजी बाजार नियामक सेबी और शेयर बाजारों ने बाजार में अपने निगरानी तंत्र को अधिक चाक- चौबंद कर दिया है ताकि बाजार में किसी भी तरह की साठगांठ से कारोबार करने जैसी गतिविधियों पर नजर रखी जा सके.