Zee Rozgar Samachar

'भगोड़े' चोकसी को अब भी अपनी 'बदनामी' का डर, Netflix की इस वेब सीरीज से आपत्ति

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में करीब 13 हजार करोड़ रुपये की जालसाजी करने वाले मामा-भांजे मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) और नीरव मोदी (Nirav Modi) जनवरी 2018 में देश से फरार हो गए थे. नीरव मोदी को 19 मार्च में लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया था.

'भगोड़े' चोकसी को अब भी अपनी 'बदनामी' का डर, Netflix की इस वेब सीरीज से आपत्ति
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: पीएनबी स्कैम के आरोपी और 'भगोड़े' मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को नेटफ्लिक्स (Netflix) पर जल्द रिलीज होने वाले एक वेब सीरीज (Web Series) से आपत्ति है. चोकसी ने अपने वकील के जरिए दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर कराई है. मेहुल चोकसी ने कोर्ट से अनुरोध किया है कि इस वेब सीरीज को रिलीज होने से रोका जाए. 

कोर्ट ने भी नेटफ्लिक्स से पूछा एक सवाल
दिल्ली उच्च न्यायालय ने ऑनलाइन वीडियो मंच नेटफ्लिक्स से बुधवार को कहा कि क्या वह ‘बैड ब्वॉय बिल्यनेर्स’ (Bad Boys Billionaires) वेब सीरीज इसकी रिलीज से पहले करोड़ों रुपये के पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को उपलब्ध करा सकता है? न्यायमूर्ति नवीन चावला ने नेटफ्लिक्स से वकील से मौखिक रूप से कहा कि वह चोकसी को इसकी ‘प्री-स्क्रीनिंग’ (रिलीज से पहले देखने के लिये) उपलब्ध कराने पर विचार करे और विवाद पर विराम लगाये. अदालत ने इस विषय की अगली सुनवाई 28 अगस्त को निर्धारित की है.

गीतांजलि जेम्स के प्रमोटर चोकसी और उसके भतीजे नीरव मोदी 13,500 करोड़ रुपये से अधिक के पंजाब नेशनल बैंक (Punjab धोखाधड़ी मामले में आरोपी हैं. चोकसी पिछले साल देश छोड़ कर भाग गया था. इस वेब सीरीज के दो सितंबर को भारत में रिलीज होने का कार्यक्रम है. नेटफ्लिक्स पर इसके बारे में यह बताया गया है कि यह एक ऐसी डॉक्‍यूमेंट्री है जो भारत के सर्वाधिक कुख्यात उद्योगपतियों के लालच, फरेब और भ्रष्टाचार को बयां करता है.

इसमें भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या (Vijay Mallya), नीरव मोदी (Nirav Modi) के साथ-साथ बी राजू रामलिंग राजू (B Raju Ramaling Raju) के विवादित मामलों पर प्रकाश डाला गया है. अदालत में चोकसी का प्रतिनिधित्व कर रहे अधिवक्ता विजय अग्रवाल ने इस वेब सीरीज की रिलीज को टाले जाने का अनुरोध किया है.

28 अगस्‍त को सुनवाई
अधिवक्ता ने कहा कि उन्होंने इसका ट्रेलर देखा है और पूरी दुनिया से इस बारे में उन्हें कॉल आ रहे हैं जिनमें यह पूछा जा रहा है कि क्या वह इस डॉक्‍यूमेंट्री का हिस्सा हैं. साथ ही, उनसे इस पर टिप्पणी करने को भी कहा जा रहा है.

याचिका में कहा गया है कि इसके बाद याचिकाकर्ता (चोकसी) ने यह पाया कि ट्रेलर में दिख रहा एक व्यक्ति पवन सी लाल नाम का व्यक्ति है जिन्होंने ‘फ्लाव्ड:द राइज ऐंड फॉल ऑफ इंडियाज डायमंडल मोगुल नीरव मोदी’ लिखी थी. अग्रवाल ने कहा कि वह इस वेब सीरीज की रिलीज पर रोक नहीं चाहते हैं, बल्कि सिर्फ अनुरोध कर रहे हैं कि इसे इसकी रिलीज से पहले उन्हें दिखाया जाए.

सुनवाई के दौरान नेटफ्लिक्स इंक और नेटफ्लिक्स इंटरटेनमेंट सर्विसेज इंडिया एलएलपी का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता नीरज किशन कौल ने कहा कि यह वेब सीरिज नीरव मोदी जैसे कई लोगों पर है और इसमें चोकसी पर सिर्फ दो मिनट है.

उल्लेखनीय है कि पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में करीब 13 हजार करोड़ रुपये की जालसाजी करने वाले मामा-भांजे मेहुल चोकसी और नीरव मोदी जनवरी 2018 में देश से फरार हो गए थे. नीरव मोदी को 19 मार्च में लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया था. इसके बाद लंदन की अदालत में उसके प्रत्यर्पण का मुकदमा चल रहा है. 29 मार्च 2018 को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेटस कोर्ट के जज एम्मा अर्बथनॉट ने 48 साल के नीरव मोदी को जमानत देने से इनकार कर दिया. फिलहाल मोदी के मुकदमे पर लंदन में सुनवाई जारी है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.