close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रेलवे के लिए मोदी सरकार का यह है मास्टर प्लान, 100 दिनों के अंदर होंगे ये काम

 एक्शन प्लान के तहत सरकार आने वाले समय में ज्यादा से ज्यादा थर्ड एसी आधारित हमसफर ट्रेनों को चलाने की योजना बना रही है.

रेलवे के लिए मोदी सरकार का यह है मास्टर प्लान, 100 दिनों के अंदर होंगे ये काम
डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (DFC) को 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. (फाइल)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को दोबारा अपने पद की शपथ लेंगे. हालांकि, काम अभी से शुरू हो गया है. मोदी सरकार-2 के तहत भारतीय रेलवे का मेगा एक्शन प्लान बनकर तैयार है. सरकार का फोकस यात्री ट्रेन के साथ-साथ माल ढुलाई पर भी है. इसके लिए रोडमैप तैयार कर लिया गया है. सरकार की कोशिश है कि रेलवे को मुनाफे का सौदा बनाया जाए, इसके लए मालगाड़ी परिवहन पर सरकार का फोकस है.

इसके लिए डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (DFC) को 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. कॉरिडोर का काम पूरा हो जाने के बाद रेलवे अपने मुनाफे को दोगुना करने पर फोकस करेगी. सूत्रों के मुताबिक, यह भी खबर है कि मोदी सरकार आगामी बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर विस्तार और यात्री सुविधाओं पर फोकस करेगी.

Railway ने 30 मई तक कैंसल की ये ट्रेनें, सफर से पहले देख लें पूरी लिस्ट

जानकारी के मतुाबिक, सरकार बजट में तो नहीं लेकिन 100 दिन के एक्शन प्लान के तहत आने वाले समय में ज्यादा से ज्यादा थर्ड एसी आधारित हमसफर ट्रेनों को चलाने की योजना बना रही है. यात्री सुविधाओं के तहत ए और बी कैटेगरी के स्टेशनों पर एक्सलेटर, लिफ्ट, शौचालय और वेटिंग रूम जैसी सुविधाओं को पक्का करना चाहती है. ए प्लस, ए और बी कैटेगरी के सभी स्टेशनों पर Wi-Fi सुविधा को सुनिश्चित करने का भी लक्ष्य रखा गया है. माल ढुलाई के नजरिए से डीएफसी के जरिए देश मे माल ढुलाई को तेज और सरल बनाना, साथ ही माल ढुलाई के जरिए साल 2025 तक कमाई को दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है.