मोदी सरकार ने बढ़ाया रेलवे बोर्ड चेयरमैन का कार्यकाल, जानिए क्‍या है इसकी वजह...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाले कैबिनेट कमेटी ऑफ अपॉइंटमेंट ने मंगलवार को कार्यकाल बढ़ाने के प्रस्ताव को हरी झंड़ी दे दी है.

मोदी सरकार ने बढ़ाया रेलवे बोर्ड चेयरमैन का कार्यकाल, जानिए क्‍या है इसकी वजह...
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : केंद्र सरकार ने रेलवे बोर्ड (Railway Board) के चेयरमैन वीके यादव का कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ा दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अध्यक्षता वाले कैबिनेट कमेटी ऑफ अपॉइंटमेंट ने मंगलवार को कार्यकाल बढ़ाने के प्रस्ताव को हरी झंड़ी दे दी है. वीके यादव ने पूर्व रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी के बाद ये कार्यभार संभाला था. 

वीके यादव का कार्यकाल दिसंबर 2019 तक ही था. केंद्र सरकार ने यादव के बेहतर प्रदर्शन की वजह से ही उन्हें एक साल का अतिरिक्त कार्यकाल दिया है. साथ ही वीके यादव के बदले किसी नए चेहरे को फिलहाल रेलवे बोर्ड चेयरमैन बनाने के लिए उपयुक्त उम्मीदवार भी नहीं मिल पाया है. मौजूदा चेयरमैन इससे पहले साउथ सेंट्रल रेलवे के जनरल मैनेजर रहे हैं. वीके यादव 1980 बैच के भारतीय रेलवे सेवा से हैं. भारतीय रेलवे में इलेक्ट्रिकल विंग से जुड़े हैं. 

उल्लेखनीय है कि वीके यादव का कार्यकाल में भारतीय रेलवे ने इस वित्तीय वर्ष के पहले छह महीनों में सबसे सुरक्षित प्रदर्शन दर्ज किया है. जिसमें किसी यात्री की मौत नहीं हुई है, हालांकि राष्ट्रीय वाहक को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के क्रियान्वयन के कारण वित्तीय संकट का सामना करना पड़ रहा है. यात्रियों की सुरक्षा के मेगा योजना के हिस्से के रूप में रेलवे ने अप्रैल 2019 से नवंबर 2019 के बीच 904 स्थानों पर मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग को समाप्त कर दिया, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 296 की तुलना में 200 फीसदी अधिक है. इस अवधि के दौरान देशभर में 3560 किमी पटरियों का नवीनीकरण हुआ और 861 पुलों की भी जीर्णोद्धार किया गया.