close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नंदन नीलकेणि कमेटी ने दिया सुझाव, चार्जलेस हो RTGS और NEFT ट्रांजेक्शन

नंदन नीलेकणि समिति ने डिजिटल लेनदेन पर लगने वाले शुल्क को हटाने, चौबीस घंटे RTGS और NEFT की सुविधा देने और पॉइंट ऑफ सेल (POS) मशीन के आयात को शुल्क मुक्त करने समेत कई सुझाव दिए हैं.

नंदन नीलकेणि कमेटी ने दिया सुझाव, चार्जलेस हो RTGS और NEFT ट्रांजेक्शन
RBI गवर्नर ने डिजिटल पेमेंट को लेकर इस कमेटी का गठन किया था. (फाइल)

मुंबई: देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए नंदन नीलकेणिसमिति ने डिजिटल लेनदेन पर लगने वाले शुल्क को हटाने, चौबीस घंटे RTGS और NEFT की सुविधा देने और पॉइंट ऑफ सेल (POS) मशीन के आयात को शुल्क मुक्त करने समेत कई सुझाव दिए हैं. डिजिटल भुगतान के संबंध में सुझाव देने के लिए रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने पिछले महीने नीलकेणिकी अध्यक्षता में एक विशेषज्ञ समिति बनायी थी. नंदल नीलकेणिआधार (Aadhaar) के फाउंडर माने जाते हैं.

समिति ने कहा कि सरकारी एजेंसियों को डिजिटल भुगतान करने पर ग्राहकों से कोई सुविधा शुल्क नहीं लिया जाना चाहिए. वहीं इस तरह के लेनदेन से जुड़ी शिकायतों के समाधान की ऑनलाइन प्रणाली बनाने का भी सुझाव दिया है.

RTGS के जरिए मनी ट्रांसफर करना हुआ सस्ता, सुबह ट्रांजेक्शन करने पर कोई चार्ज नहीं

इस संबंध में रिजर्व बैंक द्वारा जारी एक रपट में कहा गया है कि समिति ने डिजिटल भुगतान प्रणाली पर निगरानी के लिए सरकार और आरबीआई से पर्याप्त व्यवस्था करने और ब्लॉक, पिनकोड इत्यादि के आधार पर एकीकृत जानकारी रखने का सुझाव दिया है जो सभी कंपनियों को मासिक आधार पर उपलब्ध हों ताकि वह अनिवार्य संयोजन कर सकें.