नीरव-मेहुल की जोड़ी का 'काला खेल', ऐसे 50 लाख में बेचते थे 2000 रुपए का हीरा!

पीएनबी घोटाले के दो अहम किरदार, न सिर्फ बैंक का पैसा लेकर भागे, बल्कि लोगों को भी खूब ठगा. इन दोनों की जोड़ी हेराफेरी में माहिर है. इन्हें ठगी का उस्ताद कहा जाए तो गलत नहीं होगा.

नीरव-मेहुल की जोड़ी का 'काला खेल', ऐसे 50 लाख में बेचते थे 2000 रुपए का हीरा!
मेहुल चौकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स के पूर्व एमडी संतोष श्रीवास्तव ने ये खुलासे किए हैं.

नई दिल्ली: पीएनबी घोटाले के दो अहम किरदार, न सिर्फ बैंक का पैसा लेकर भागे, बल्कि लोगों को भी खूब ठगा. इन दोनों की जोड़ी हेराफेरी में माहिर है. इन्हें ठगी का उस्ताद कहा जाए तो गलत नहीं होगा. नीरव मोदी का सिखाने वाला मेहुल चौकसी न सिर्फ फर्जीवाड़े में माहिर है. उसने 2-3 हजार रुपए कीमत वाले हीरे लाखों में बेचे हैं. कंपनी का एंडोर्समेंट करने वालों को भी चूना लगाया जाता था. मेहुल चौकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स के पूर्व एमडी संतोष श्रीवास्तव ने ये खुलासे किए हैं.

जांच एजेंसी ने नहीं की कार्रवाई
एक टीवी चैनल से बात करते हुए संतोष श्रीवास्तव ने दावा किया कि मेहुल चौकसी के बारे में उन्होंने पीएमओ और ईडी को जानकारी दी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. चौकसी ने सिर्फ पीएनबी को ही धोखा नहीं दिया, बल्कि उनके लिए विज्ञापन बनाने वाले मशहूर संगीतकार हिमेश रेशमिया को भी ठगा है.

PNB 'महाघोटाला': मेहुल चौकसी ने बंद की गीतांजलि जेम्स? कर्मचारियों से कहा- 'जाओ घर'

हिमेश रेशमिया को भी ठगा
संतोष श्रीवास्तव ने कहा कि संगीतकार हिमेश रेशमिया को एक टीवी विज्ञापन करने के एवज में 50 लाख के हीरे देने का वादा किया गया था और विज्ञापन हो जाने पर रेशमिया को हीरे दे दिए गए. लेकिन रेशमिया ने जब इन्हें दूसरी जगह जांचा तो पता चला कि हीरों की कीमत तो बेहद कम थी. 

PNB महाघोटाले में बड़ी कार्रवाई, CBI ने बैंक के जनरल मैनेजर राजेश जिंदल को गिरफ्तार किया

कई सेलिब्रिटीज को दिया धोखा
संतोष श्रीवास्तव का कहना है कि ऐसा एक नहीं बल्कि कई और सेलिब्रिटीज के साथ किया गया. संतोष ने दावा किया कि इतना ही नहीं वह 10 गुना ज्यादा कीमत पर हीरा बेचता था. उन्होंने दावा किया कि ऐसे कई मौके उनके सामने आए जब कस्टमर को नकली और कम कीमत के हीरे दिए गए.

सनसनीखेज खुलासा: मुंबई की चाल में रहते हैं मेहुल चौकसी की कंपनी के डायरेक्टर्स

2000 का हीरा 50 लाख में बेचा
संतोष के मुताबिक, मेहुल चौकसी ने एक ग्राहक को एक हीरा 50 लाख में बेचा था. जबकि, हकीकत में उस हीरे की लागत गीतांजलि के लिए सिर्फ 2000 से 3000 रुपए ही थी. संतोष ने आरोप लगाया कि मेहुल असली और नकली हीरे की मिक्सिंग कर ऐसा करता था. 

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी से जुड़ी पूरी कवरेज पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ऐसे होता था करोड़ों का हेरफेर
संतोष ने कहा कि वह ज्वेलरी की कीमत तय करने में सीधा नहीं जुड़ा था, लेकिन यह सब उनकी जानकारी में हो रहा था. उसने दावा किया कि “मैंने कई बार इन मामलों को मेहुल चौकसी के सामने उठाया, लेकिन चौकसी ने कहा कि यह तुम्हारा बिजनेस नहीं है. तुम अपने काम से काम रखो.” उनका दावा है कि इस दौरान उन्होंने कई संदिग्ध गतिविधि देखीं. उन्होंने बताया कि "कंपनी का जोर फ्रेंचाइजी बिजनेस पर था. इसमें 10 रुपए के सामान की वेल्यू 500 रुपए दिखाकर बिल जनरेट किए जाते थे. करोड़ों की राशि फर्मों से ली जाती थी.”

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.