जेल में कुछ इस तरह कटी भगोड़े नीरव मोदी की होली, यहां बात-बात पर हो जाती है हत्या

नीरव मोदी को ब्रिटेन के सबसे भीड़भाड़ वाले जेल- हर मैजेस्टी प्रिजन (HMP), साउथ-वेस्ट लंदन में रखा गया है.

जेल में कुछ इस तरह कटी भगोड़े नीरव मोदी की होली, यहां बात-बात पर हो जाती है हत्या
नीरव मोदी को 29 मार्च तक जेल में गुजारनी होगी. (फाइल)

लंदन: भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के लिये इस बार की होली अच्छी नहीं रही. उसकी होली इस बार ब्रिटेन की एक जेल में कटी. यह जेल ब्रिटेन की सबसे ज्यादा भीड़भाड़ वाली जेलों में से एक है. ब्रिटेन की एक अदालत ने बुधवार को नीरव मोदी को जमानत देने से इनकार कर दिया था. नीरव मोदी (48 वर्ष) सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से जुड़े दो अरब डॉलर (14000 करोड़ रुपये) के धोखाधड़ी मामले में भारत में वांटेड है. लंदन की पुलिस ने नीरव मोदी को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया था और बुधवार को उसे वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की जिला न्यायाधीश मैरी माल्लोन की अदालत में पेश किया गया. 

न्यायाधीश ने नीरव मोदी को 29 मार्च तक हिरासत में भेज दिया जिसके बाद उसे दक्षिण- पश्चिम लंदन की वांडस्वर्थ जेल में रखा गया. संभवत: मोदी को उम्मीद थी कि उन्हें अलग सेल में रखा जायेगा लेकिन उन्हें इस जेल में बंद 1,430 पुरूष कैदियों में से किसी एक के साथ एक ही सेल में रहना पड़ा होगा. इस जेल में कुछ खतरनाक कैदी भी हैं. 

3-3 फर्जी पासपोर्ट के सहारे लंदन में घूम रहा था नीरव मोदी, कई देशों में था रहने का ठिकाना

यहां के कैदी कितने खतरनाक हैं इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले कुछ दिनों में जेल के भीतर कैदियों की झड़प में 6 की मौत हो चुकी है. जेल प्रशासन ने सख्त निर्देश दिया है कि किसी भी परिस्थिति में कोई भी जेल कर्मचारी अकेले सेल के अंदर नहीं जाएंगे. इस जेल में इमरजेंसी कॉल बेल की भी उचित सुविधा नहीं है. इस जेल के सेल को एक कैदी के हिसाब से डिजाइन किया गया है, लेकिन हर सेल दो-दो कैदियों को रखा गया है. बढ़ती हिंसा को देखते हुए सेल से बाहर निकलने के समय को भी कम किया गया है. ऐसे में नीरव मोदी की रातें बड़ी मुश्किल से गुजर रही होगी.

नीरव मोदी को भारत लाने की ये है पूरी प्लानिंग, नहीं दोहराई जाएगी माल्या केस वाली गलती

देश के अमीर व्यक्तियों में से एक नीरव मोदी काफी ठाटबाट की जिंदगी जीने वाले लोगों में से हैं. उसका दुनियाभर में कई प्रतिष्ठित लोगों और फिल्म कलाकारों के साथ उठना बैठना रहा है. लेकिन ऐसा भी समय आया जब उन्हें होली का दिन खतरनाक कैदियों के साथ बिताना पड़ा.

(इनपुट-भाषा से भी)