close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अर्थव्यवस्था के हालात पर नितिन गडकरी ने कहा- कभी खुशी होती है, कभी गम, यही जीवन चक्र है

 नितिन गडकरी ने कहा कि ऑटोमबोइल सेक्टर को ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है, यह एक मुश्किल वक्त है जो गुजर जाएगा. 

अर्थव्यवस्था के हालात पर नितिन गडकरी ने कहा- कभी खुशी होती है, कभी गम, यही जीवन चक्र है
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (फाइल फोटो)

नागपुर: अर्थव्यवस्था (economy) के मौजूदा हालात पर बोलते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शनिवार को कहा है कि यह मुश्किल वक्त है और यह बीत जाएगा. विदर्भ उद्योग संघ के 65वें स्थापना दिवस पर बोलते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि ऑटॉमोबोइल सेक्टर (Automobile sector) को ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है, यह एक मुश्किल वक्त है जो गुजर जाएगा. 

गडकरी ने कहा कि वह हाल ही में वह ऑटोमोबाइल निर्माताओं से मिले थे. उन्होंने कहा कि वे कुछ परेशान लग रहे थे. नितिन गडकरी ने बताया कि उन्होंने ऑटोमोबाइल निर्माताओं को सलाह दी, 'यह जीवन चक्र है. इसमें कभी खुशी कभी कम होता है, कभा आप कामयाब होते हैं और कभी असफल.' 

दिखने लगे हैं सुधार के संकेत
बता दें वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि कि अर्थव्यवस्था के अधिकांश घटकों में सुधार के संकेत स्पष्ट मिलने लगे हैं। उन्होंने कहा कि पहली तिमाही में आर्थिक विकास दर घटकर छह साल के निचले स्तर पर पांच प्रतिशत तक गिरने के बाद औद्योगिकी उत्पादन और स्थिर निवेश बढ़ा है। 

सीतारमण ने कहा, 'एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) आगम जबरदस्त रहा है और विदेशी पूंजी भंडार रिकॉर्ड स्तर पर है। राजकोषीय घाटा में सुधार हुआ है और चालू खाता घाटा में वृद्धि थम गई है। स्थिर निवेश में पहले ही सुधार हुआ है। आईआईपी (औद्योगिक उत्पादन सूचकांक) में वृद्धि दर्ज की गई है और ऐसा ही प्रमुख उद्योगों के उत्पादन में हुआ है। खुदरा महंगाई दर चार फीसदी के नीचे थमी हुई है।'