Zee Rozgar Samachar

Noida authority: इन सेक्टरों में घर खरीदने जा रहे हैं तो संभल कर, प्राधिकरण ने लगाई है रोक

नोएडा में प्रापर्टी से जुड़े इस केस की जांच के लिए नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) ने जो कमेटी बनाई है वो बोर्ड की बैठक में रिपोर्ट सौंपेगी. ये आदेश भी दिए गए हैं कि जांच पूरी होने तक परियोजना में किसी भी तरह से मकानों की खरीद-फरोख्त न हो.

Noida authority: इन सेक्टरों में घर खरीदने जा रहे हैं तो संभल कर, प्राधिकरण ने लगाई है रोक
प्रतीकात्मक तस्वीर।

नई दिल्ली: अगर आप नोएडा (Noida) में प्रॉपर्टी खरीदना चाहते हैं तो जरा सावधान होने की जरूरत है. नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority)  का एक फैसला इसकी वजह है. दरअसल प्राधिकरण ने शहर के पांच सेक्टरों में बड़ी रोक लगाई है. अगर आपने भी इन 5 सेक्टरों में अपने सपनों का घर खरीदने का मन बनाया है तो ये खबर आपको बड़े आर्थिक नुकसान से बचा सकती है. वहीं जो लोग पहले से यहां घर बुक करा चुके हैं उनके लिए तो ये बुरी खबर इसलिए है क्योंकि अथॉरिटी ने इन सेक्टरों के प्रोजेक्ट पर सवाल उठने के बाद परियोजना की जांच के लिए कमेटी बना दी है.

प्रोजेक्ट पर लगी रोक

मामले की जांच के लिए प्रधिकरण ने जो कमेटी बनाई है वो बोर्ड की अगली बैठक में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. वहीं ये आदेश भी दिए गए हैं कि जांच पूरी होने तक परियोजना में किसी भी तरह से मकानों की खरीद-फरोख्त न हो. अथॉरिटी सू्त्रों से मिली जानकारी के मुताबिक परियोजना से जुड़े कई कामों पर रोक लगा दी गई है. बताया जा रहा है कि सीएजी (CAG) की एक रिपोर्ट के बाद नोएडा विकास प्राधिकरण (Noida Authority) ने यह सख्त फैसला लिया. आपको बता दें कि परियोजना से जुड़े ऑक्युपेंसी और कंपलीशन सर्टिफिकेट जारी करने पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी गई है.

हजारों लोगों को झटका

प्राधिकरण के फैसले से नए खरीददारों को तो संभलने का वक्त मिल जाएगा लेकिन असल में बुरी खबर उनके लिए हैं जो इस कार्रवाई से पहले ही इस परियोजना में अपना मकान बुक करा चुके हैं. जानकारी के मुताबिक इस मामले में ऐसे हजारों लोगों को बड़ा झटका लगा है. दरअसल नोएडा प्रधिकरण ने ऐसे घरों की रजिस्ट्री किए जाने पर भी अपनी रोक लगा दी है.

यहां प्रापर्टी ढूंढ रहे हैं तो जरा संभल के!

नोएडा प्राधिकरण ने शहर के पांच सेक्टरों में आवास परियोजनाओं पर आपत्तियां जताई हैं. रिहाइशी प्रोजेक्ट में थर्ड पार्टी इंट्रेस्ट के चलते यह आपत्तियां उठी हैं. इसके बाद प्रधिकरण ने जो फैसला लिया उसके तहत सेक्टर 78, 79, 101, 150 और 152 के प्रोजेक्ट में पैसा फंसा चुके लोगों की शामत आ गई है. दरअसल इन पांच सेक्टरों को मिलाकर ही परियोजना की शुरुआत हुई थी. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.