खादी के मास्क और देसी घी बनेंगे लोकल से ग्लोबल, सरकार ने शुरू की तैयारी

आत्मनिर्भर पैकेज के बाद सरकार के एजेंडे में वो लोकल प्रोडक्ट हैं जो ग्लोबल मार्केट में धमाल मचा कर विदेशी मुद्रा कमाकर दे सकते हैं.

खादी के मास्क और देसी घी बनेंगे लोकल से ग्लोबल, सरकार ने शुरू की तैयारी
देसी घी और मास्क

नई दिल्लीः आत्मनिर्भर पैकेज के बाद सरकार की एजेंडे में वो लोकल प्रोडक्ट हैं जो ग्लोबल मार्केट में धमाल मचा कर विदेशी मुद्रा कमाकर दे सकते हैं. फिलहाल खादी के प्रोडक्ट और देसी घी रडार पर आ गए हैं. खादी ग्रामोद्योग के चेयरमैन विनय सक्सेना के मुताबिक "हमें देश में ही 8 लाख खादी के मास्क के आर्डर आए थे." 

उन्‍होंने कहा, "हमने 6.5 लाख मास्क बना कर दे दिए हैं. हम यूरोप अमेरिका ,मिडल ईस्ट के मार्केट में मास्क ले जाने की तैयारी कर रहे हैं. हमारे मास्क दो लेयर तीन लेयर के हैं. डबल ट्विस्टेड फैब्रिक से बनते हैं और इस तरह बनते हैं कि उसमें जरुरी नमी बनी रहे ताकि हवा का आना जाना अच्छे से होता रहे."

पुरुष और महिलाओं के लिए अलग रेंज
महिलाओं के लिए मास्क की अलग रेंज है, पुरुषों के लिए अलग रेंज है और सिल्क के भी मास्क हैं. इसकी खासियत ये है कि हैंड मेड हैं. प्रधानमंत्री की अपील के बाद देश ही नहीं विदेश में भी खादी के प्रोडक्ट की मांग है इसलिए हम इसे ग्लोबल ले जा रहे हैं.

देसी घी की होगी ग्लोबल मार्केटिंग
वही केंद्र सरकार के पशुपालन विभाग के सचिव अतुल चतुर्वेदी बताते हैं कि "जिस तरह यूरोप ने ऑलिव ऑयल (जैतून के तेल ) की मार्केटिंग की है, उसी तरह हम देसी घी की मार्केटिंग करने वाले हैं. हेल्थ के लिए देसी घी के कई फायदे हैं जिसको सामने लाना जरूरी है. हमने ICAR से देसी घी के फायदे मांगे हैं और रणनीति तैयार की जा रही है. देसी घी की ग्लोबल डिमांड बनने पर हमारे किसान को,डेयरी कारोबार को बहुत फायदा होगा."

विदेशों में है देसी घी को लेकर जागरूकता की कमी
ऑस्ट्रेलिया में रह रहे एग्रीकल्चर मार्केटिंग एक्सपर्ट अखिलेश यादव बताते हैं कि "विदेश में घी को क्लेरिफाइड बटर कहते हैं, जहां तक भारत वाले देसी घी की बात है इसके बारे में जागरूकता की कमी है. खास तौर पर देसी गाय का घी ,जैसे ये दिल के लिए बेहतर है,‌ कोलेस्ट्रोल को कम करता है, इसमें विटामिन k2 भी पाया जाता है जो हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है. साथ ही देसी गाय का घी इम्युनिटी बढ़ाता है. खर्राटे रोकने में तो देसी गाय का घी अचूक दवा का काम करता है. वहीं दिमाग तेज़ करने का, याददाश्त बढ़ाने का काम करता है."

उन्‍होंने कहा, "यह सारी बातें लोगों को बताना चाहिए, मुझे तो यह समझ में नहीं आ रहा कि अब तक ऐसा क्यों नहीं हुआ, खैर देर आए दुरुस्त आए. सारे फायदे जाने के बाद यकीनन लोग इसे पसंद करेंगे और भारत के लोगों को अच्छे ऑर्डर्स मिलेंगे."