आप अपने मोबाइल से कर पाएंगे असली-नकली माल की पहचान, लगेंगे सिर्फ कुछ सेकंड

Mobile App पर आप बेहद आसानी से किसी भी प्रोडक्ट या ज्वैलरी के असली-नकली होने की जांच कर सकते हैं. 

आप अपने मोबाइल से कर पाएंगे असली-नकली माल की पहचान, लगेंगे सिर्फ कुछ सेकंड

नई दिल्ली: किसी भी सामान के असली होने को लेकर हम सभी कंफ्यूज रहते हैं. किसी महंगे सामान को खरीदते वक्त नकली होने का डर सताना लाजमी है. इस बीच आपके लिए एक अच्छी खबर आ गई है. अब आपको नकली या असली माल की पहचान तुरंत हो जाएगी. इसके लिए आपका मोबाइल ही मददगार साबित होगा.

भारत मानक ब्यूरो का मोबाइल ऐप लॉन्च
उपभोक्ता मंत्रालय ने BIS यानी भारत मानक ब्यूरो का मोबाइल ऐप (Mobile App) लॉन्च किया है. BIS मोबाइल ऐप (BIS Mobile App) पर आप बेहद आसानी से किसी भी प्रोडक्ट या ज्वैलरी के असली नकली होने की जांच कर सकते हैं. हमारे सहयोगी zeebiz.com के अनुसार प्रोडक्ट पर दिए गए ISI मार्क लाइसेंस नंबर को मोबाइल ऐप में डाल कर चेक किया जा सकता है कि लाइसेंस नंबर सही या नहीं. इससे प्रोडक्ट के असली या फेक होने की जानकारी मिल सकेगी.

ऐप पर ही मिलेगी सारी जानकारी
अगर लाइसेंस नंबर सही है तो ऐप पर प्रोडक्ट ब्रान्ड से लेकर, मेकिंग जैसी सभी जानकारी आ जाएंगी. इसी तरह ज्वैलरी खरीदते समय भी हॉलमार्क नंबर मोबाइल ऐप पर जांच कर सही ज्वैलरी खरीद सकते हैं.

नकली सामान की शिकायत भी तत्काल
अगर लाइसेंस नंबर या हॉलमार्क नंबर सही नहीं है तो उसी मोबाइल ऐप पर आप तुरंत शिकायत या कंप्लेंट रजिस्टर कर सकते हैं. आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर शिकायत रजिस्टर्ड मैसेज और कंप्लेंट नंबर आ जाएगा. 

ऐसे कीजिए ऐप डाउनलोड
सबसे पहले प्ले स्टोर (Play Store) से ऐप डाउनलोड करना होगा. ध्यान रहे कि ऐप के नीचे GS1 लिखा होगा. यह एंड्रॉयड और IOS दोनों आपरेटिंग सिस्टइम्सध पर मौजूद है. यह ऐप प्रोडक्ट के पीछे दिए गए बारकोड को Scan करती है. ऐप ओपेन करें और जिस प्रोडक्ट के बारे में आप जानना चाहते हैं, उसका कोड स्कैन करें.

ये भी पढ़ें: किसानों को सस्ते में मिलेगा गोल्ड लोन, इस सरकारी बैंक ने घटा दी है ब्याज दर

अगर बारकोड स्कैन नहीं हो पाता है तो, Barcode के पास लिखे नंबर (GTIN) को एंटर करें. उस प्रोडक्ट की सारी जानकारी आपके सामने आ जाएगी. इसमें मैन्युफैक्चरर, प्राइस, डेट, FSSAI  लाइसेंस जैसी जानकारी शामिल है.