close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वाहन चालकों के लिए खुशखबरी, देश में जल्द लागू होगा 'वन नेशन वन टैग'!

'वन नेशन वन राशन कार्ड' (One Nation, One Ration Card) के बाद अब सरकार की तरफ से जल्द 'वन नेशन, वन टैग' (One Nation One Tag) को भी लागू किया जा सकता है.

वाहन चालकों के लिए खुशखबरी, देश में जल्द लागू होगा 'वन नेशन वन टैग'!

नई दिल्ली : 'वन नेशन वन राशन कार्ड' (One Nation, One Ration Card) के बाद अब सरकार की तरफ से जल्द 'वन नेशन, वन टैग' (One Nation One Tag) को भी लागू किया जा सकता है. 'वन नेशन वन टैग' यानी आप एक ही डिजिटल टैग के सहारे आप देश के नेशनल हाईवे, स्टेट हाईवे से लेकर म्युनिसिपल रोड टैक्स भी अदा कर सकते हैं. दरअसल अभी फास्ट टैग या आरएफआईडी (RFID) के जरिये देश के नेशनल हाईवे और स्टेट हाईवे पर टोल डिजिटली अदा किया जाता है.

10 अक्टूबर को मंत्रालय के अधिकारियों के साथ अहम बैठक
कई राज्यों में म्युनिसिपल टैक्स या राज्य में प्रवेश करने पर टोल टैक्स फास्ट टैग से अलग, अन्य डिजिटल टैग के माध्यम से भरना होता है. ऐसे में सरकार एक ही वाहन पर अलग अलग टैग चिपकाने के बजाय सिर्फ एक टैग से ही सभी टोल पर टैक्स देने की व्यवस्था पर विचार कर रही है. 'वन नेशन वन टैग' के कॉन्सेप्ट को हकीकत बनाने और इससे जुड़ी सभी बारीकियों पर बात करने के लिए सड़क परिवहन मंत्रालय 10 अक्टूबर को मंत्रालय के अधिकारियों और कई राज्य सड़क परिवहन अधिकारियों के साथ अहम बैठक करने जा रहा है.

अधिकांश हिस्सा राज्यों के देने के मूड में केंद्र
सूत्रों की माने तो सरकार राज्यों को भी टैग के जरिये टोल कलेक्शन में से कमाई का अधिकांश हिस्सा राज्यों के देने के मूड में है. इससे राज्य सहमत होते हैं तो एक देश एक टैग के कॉन्सेप्ट को सफल बनाया जा सकेगा. सूत्रों की माने तो सरकार टोल कलेक्शन में पारदर्शिता और तेजी लाने के मकसद से फास्ट टैग या RFID के जरिये डिजिटल टोल कलेक्शन को बढ़ावा देना चाहती है.

ऐसे में 'वन नेशन वन टैग' के जरिये सरकार डिजिटल टोल कलेक्शन को बढ़ावा देना चाहती है. आंकड़ों के अनुसार अभी तक 60 लाख फास्ट टैग निजी वाहनों, कॉमर्शियल गाड़ियों जैसे टैक्सी, बस और ट्रक आदि पर लग चुके हैं.