महाराष्ट्र में 80 रुपए किलो बिक रहे हैं प्याज, नई फसल भी है बर्बाद

रबी का प्याज 8000 रुपए तक पहुंच चुका है. इस वजह से महाराष्ट्र में नवी मुंबई और मुंबई में खुदरा बाजार में प्याज के दाम 80 रुपए तक पहुंच गए हैं. 

महाराष्ट्र में 80 रुपए किलो बिक रहे हैं प्याज, नई फसल भी है बर्बाद
महाराष्ट्र में प्याज हुआ महंगा.

मुंबई: महाराष्ट्र के नासिक जिले की मंडी समितियोमें प्याज का भाव प्रति क्विंटल 8000 रुपए तक पहुंच चुका है. रबी का प्याज 8000 रुपए तक पहुंच चुका है. इस वजह से महाराष्ट्र में नवी मुंबई और मुंबई में खुदरा बाजार में प्याज के दाम 80 रुपए तक पहुंच गए हैं. हालात ऐसे ही रहे तो प्याज तो मुंबई के साथ समुचे महाराष्ट्र में प्रति किलो 100 रुपए प्रति किलो के पार जा सकते हैं. नवी मुंबई और मुंबई में खुदरा बाजार में अच्छी क्वालिटी का प्याज प्रति किलो 80 रुपए तक हैं. लाल प्याज की कीमत प्रति किलो 60 रुपए है.

महाराष्ट्र के देवला बाजार समिति में शुक्रवार को प्याज के दाम 8000 रुपए तक पहुंचे हैं. नासिक की मंडियों में प्याज के भाव बढ़ने से सभी महानगरों में प्याज 100 रुपए पार कर सकता है. नासिक जिले के कुल 23 बाजार समितियां है. लासलगांव और पिंपलगाव में प्याज की सबसे बड़ी मंडी है. देवला मंडी में 8000 रुपए क्विंटल प्याज को भाव मिला है. सटाणा मंडी में 7800 रुपए, कलवण मंडी में प्याज को 7500 रुपए, पिंपलगाव में 7451 रुपए का भाव मिला है. लाल प्याज की नई फसल आने मे और 15 दिन लगेंगे. ऐसे में अगले हफ्ते तक प्याज एक क्विंटल के लिए 10 हजार रुपए के पार जा सकता है.

बेमौसम बारिश ने लाल प्याज को बर्बाद किया है. वहीं सुखे की वजह से रबी का प्याज का उत्पाद भी इस साल कम हुआ था. ऐसे में मंडी में प्याज के दाम बढ़ गए हैं. मंडियों में प्याज की आवक कम होने से किसानों को फायदा मिला है. लेकिन इस साल बारिश अच्छी होने के कारन प्याज की अभी बोई जाने वाली फसल की उत्पाद भी बढ़ेगा. इससे भविष्य में आवक बढ़ने से प्याज का दाम में भारी गिरावट आ सकती है. एसे में किसान चाहते हैं कि दो महीने के लिए प्याज के दाम बढ़ रहे हैं, इसपर आक्रोश नहीं होना चाहिए.

ये भी देखें-:

प्याज व्यापारी उमेश अट्टल ने बताया, 'हमारे पास अभी प्याज दो से पांच फीसदी ही बचा है. यह रबी का पुराना प्याज है. बेमौसम बारिश से लाल प्याज का नुकसान हुआ है, महाराष्ट्र के नासिक, अहदनगर, धुले जिले में बेमौसेम पारिश से प्याज की फसल बर्बाद हई. आंध्रप्रदेश, कर्नाटक से आने वाली प्याज भी बेमौसम बारिश से आवक घटी है, जिसके चलते मंडी में प्याज की आवक घटी है. आने वाले समय में प्याज के दाम बढ़े रहेंगे.