ई-रिटेल मार्केट में आएगा बड़ा बूम, 2022 तक 4 गुना बढ़कर $73 अरब पहुंचने का अनुमान

संपत्ति सलाहकार एनारॉक ने कहा है कि उच्च गति इंटरनेट और सस्ते स्मार्टफोन का फायदा ई-कॉमर्स बाजार को मिल रहा है और लोग पारंपरिक शॉपिंग से ई-कॉमर्स की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं.

ई-रिटेल मार्केट में आएगा बड़ा बूम, 2022 तक 4 गुना बढ़कर $73 अरब पहुंचने का अनुमान

नई दिल्ली: देश का ऑनलाइन खुदरा (रिटेल) बाजार 2022 तक चार गुना बढ़कर 73 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा. संपत्ति सलाहकार एनारॉक ने कहा है कि उच्च गति इंटरनेट और सस्ते स्मार्टफोन का फायदा ई-कॉमर्स बाजार को मिल रहा है और लोग पारंपरिक शॉपिंग से ई-कॉमर्स की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं. भारत का ऑनलाइन खुदरा बाजार 2017 में 17.8 अरब डॉलर का था. 

एनारॉक रिटेल के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनुज केजरीवाल ने कहा, "भारत का खुदरा क्षेत्र सबसे तेज गति से बढ़ रहा है. शहरीकरण में तेजी और डिजिटलीकरण, खर्च करने योग्य आय बढ़ने और जीवनशैली में बदलाव भारतीय खुदरा क्षेत्र के लिए रॉकेट का काम कर रहा है. भारत का कुल खुदरा क्षेत्र 2017 के 672 अरब डॉलर से बढ़कर 2020 में 1300 अरब डॉलर होने का अनुमान है. एनारॉक रिटेल अनुज पुरी के नेतृत्व वाली एनारॉक प्रॉपर्टी कंसल्टेंट्स की शाखा है. केजरीवाल ने कहा कि पिछले दशक में भारतीय खुदरा क्षेत्र में व्यापक 

उन्होंने कहा कि अनुमान के मुताबिक ऑनलाइन खुदरा बाजार के 29.2 प्रतिशत की दर से बढ़कर 2022 तक 73 अरब डॉलर पर पहुंचने का अनुमान है. इसकी वजह 18 से 35 वर्ष की आयु के लोगों के पारंपरिक खुदरा खरीदारी से ऑनलाइन खरीदारी की ओर रुख करना है.