नवंबर में सुस्त रही यात्री वाहनों की बिक्री, Maruti Suzuki की कॉम्पैक्ट कारों की सेल बढ़ी

नवंबर माह में देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की घरेलू बाजार में बिक्री में मामूली तेजी रही. 

नवंबर में सुस्त रही यात्री वाहनों की बिक्री, Maruti Suzuki की कॉम्पैक्ट कारों की सेल बढ़ी
हालांकि स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर समेत काम्पैक्ट वाहनों की बिक्री में इजाफा हुआ...(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री नवंबर महीने में सुस्त रही. त्योहारी सीजन की खरीद भी बिक्री को गति देने में नाकाम रही. दिग्गज वाहन कंपनियों में कुछ की बिक्री में तेजी तो कुछ में कमी दर्ज की गई.  नवबंर माह में मारुति सुजुकी, महिंद्रा एंड महिंद्रा और होंडा कार्स की घरेलू बिक्री में बढ़ोतरी दर्ज की गई जबकि हुंदई, टाटा मोटर्स और टोयोटा की घरेलू बाजार में बिक्री में सुस्ती रही.  

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की घरेलू बाजार में बिक्री में मामूली तेजी रही. उसकी घरेलू बिक्री पिछले साल नवंबर की 1,45,300 इकाइयों की तुलना में बढ़कर इस साल नवंबर में 1,46,018 इकाइयों पर पहुंच गई. आल्टो और वैगनआर समेत छोटी कारों की बिक्री इस दौरान 21.6 प्रतिशत गिरकर 29,954 इकाइयों पर आ गई. नवंबर 2017 में उसने 38,204 वाहन बेचे थे. 

हालांकि स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर समेत काम्पैक्ट वाहनों की बिक्री 10.8 प्रतिशत बढ़कर 72,533 इकाइयों पर पहुंच गई. पिछले साल की इसी महीने में यह आंकड़ा 65,447 इकाई था. हुंदई मोटर इंडिया की घरेलू बाजार में बिक्री मामूली गिरकर पिछले साल नवंबर की 44,008 इकाइयों की तुलना में इस साल नवंबर में 43,709 इकाइयों पर आ गई. टोयोटा किर्लोस्कर मोटर की घरेलू बिक्री पिछले साल नवंबर में 12,734 इकाइयों से 15.8 प्रतिशत गिरकर इस साल नवंबर में 10,721 इकाई पर आ गई. 

टोयोटा किर्लोस्कर के उप प्रबंध निदेशक एन राजा ने कहा, "विनिमय दर में उतार-चढ़ाव, ईंधन की कीमतों में वृद्धि और उच्च ब्याज दर से वाहन उद्योग में ग्राहकों धारणा प्रभावित हुई."  

इसी प्रकार, टाटा मोटर्स की घरेलू बाजार में यात्री वाहन बिक्री नवंबर महीने में मामूली 1.01 प्रतिशत गिरकर 16,982 वाहन रही. पिछले साल नवंबर में कंपनी ने 17,157 इकाइयों की बिक्री की थी. फोर्ड इंडिया ने कहा कि उसकी घरेलू बिक्री 18 प्रतिशत गिरकर 6,375 वाहन रही. पिछले साल इसी अवधि में कंपनी ने 7,777 वाहन बेचे थे. 

फोर्ड इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनुराग मेहरोत्रा ने कहा, "हमें लगता है कि सामान्य आर्थिक परिस्थितियों के कारण ग्राहकों की धारणा कमजोर बनी रहेगी. ईंधन की कीमतों में उतार-चढ़ाव और महंगाई के चलते यात्री वाहन उद्योग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा." 

वहीं, दूसरी ओर महिंद्रा एंड महिंद्रा की घरेलू बिक्री 15 प्रतिशत बढ़कर 41,564 वाहन हो गई. नवंबर 2017 में यह आंकड़ा 36,039 इकाई पर था. इस दौरान, स्कार्पियो और एक्सयूवी500 समेत अन्य यूटिलिटी वाहनों की बिक्री महज एक प्रतिशत बढ़कर 15,049 इकाई रही. नवंबर 2017 में उसने 14,958 यूटिलिटी वाहन बेचे थे. 

महिंद्रा एंड महिंद्रा के वाहन क्षेत्र के अध्यक्ष राजन वढेरा ने कहा, "हमारी कुल बिक्री में दहाई अंक की वृद्धि दर्ज की गई हैहालांकि, प्रतिकूल वृहद आर्थिक परिस्थितियों ने सामान्य रूप से वाहन उद्योग के बढ़ोतरी अनुमान को प्रभावित किया है." होंडा कार्स इंडिया की घरेलू बिक्री नवंबर महीने में 10 प्रतिशत बढ़कर 13,006 इकाइयों पर पहुंच गई. उसने नवंबर 2017 में 11,819 वाहनों की बिक्री की थी.