पतंजलि के उत्पादों को विदेशी बाजार में उतारने की तैयारी

बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद अब विदेशी बाजारों में अपने स्वदेशी उत्पादों की धूम मचाने की तैयारी कर रही है। स्वयं बाबा ने शुक्रवार को ऐलान किया कि पतंजलि के उत्पादों का अगले साल से निर्यात पर जोर रहेगा।

पतंजलि के उत्पादों को विदेशी बाजार में उतारने की तैयारी

लखनऊ : बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद अब विदेशी बाजारों में अपने स्वदेशी उत्पादों की धूम मचाने की तैयारी कर रही है। स्वयं बाबा ने शुक्रवार को ऐलान किया कि पतंजलि के उत्पादों का अगले साल से निर्यात पर जोर रहेगा।

पतंजलि मेगा स्टोर का उद्घाटन करने पहुंचे बाबा रामदेव ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘कंपनी अगले साल से निर्यात पर ज्यादा जोर देगी। हजारों करोड़ रूपये का उत्पाद निर्यात होगा।’ उन्होंने दावा किया कि अगर पतंजलि के उत्पाद देश में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध रहें तो कोई भी विदेशी उत्पाद नहीं खरीदेगा। इस कड़ी में उन्होंने देश में सक्रिय एफएमसीजी कंपनियों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वे जहर बेच रही हैं। उन्हें आयुर्वेद की कोई जानकारी नहीं है।

पतंजलि के उत्पादों की गुणवत्ता को लेकर हाल ही में उठे सवालों को खारिज करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि मीडिया को ये समझना चाहिए कि विदेशी कंपनियां तथा हमारी सोच और विचारधारा का विरोध करने वाले तत्व इस तरह की साजिश कर सकते हैं।

रामदेव के ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ में आश्रम पद्धति वाले स्कूलों की श्रृंखला स्थापित करना भी है। वह बोले, ‘इस प्रोजेक्ट में वैदिक शिक्षा एवं आधुनिक शिक्षा का समन्वय रहेगा। प्रथम कक्षा से संस्कृत और अंग्रेजी पढ़ाई जाएगी। इसका पाठ्यक्रम सीबीएसई के पाठयक्रम से ज्यादा अच्छा होगा।’