Zee Rozgar Samachar

पेटीएम को भुगतान बैंक के लिए रिजर्व बैंक की मंजूरी

पेटीएम को भारतीय रिजर्व बैंक से भुगतान बैंक के लिए अंतिम मंजूरी मिल गई है। कंपनी ने कहा है कि उसके भुगतान बैंक का परिचालन अगले महीने शुरू होने की उम्मीद है। भुगतान बैंक लोगों तथा छोटे कारोबारियों से एक लाख रुपये प्रति खाता तक की जमा ले सकते हैं।

पेटीएम को भुगतान बैंक के लिए रिजर्व बैंक की मंजूरी

नई दिल्ली : पेटीएम को भारतीय रिजर्व बैंक से भुगतान बैंक के लिए अंतिम मंजूरी मिल गई है। कंपनी ने कहा है कि उसके भुगतान बैंक का परिचालन अगले महीने शुरू होने की उम्मीद है। भुगतान बैंक लोगों तथा छोटे कारोबारियों से एक लाख रुपये प्रति खाता तक की जमा ले सकते हैं।

वन97 कम्युनिकेशंस के संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने एक ब्लॉगपोस्ट में कहा, ‘आज रिजर्व बैंक ने औपचारिक रूप से पेटीएम भुगतान बैंक शुरू करने की मंजूरी दे दी। हम इसे आपके सामने लाने के लिए इंतजार नहीं कर सकते।’ उन्होंने कहा कि पेटीएम भुगतान बैंक में हमारा लक्ष्य बैंकिंग उद्योग में नया कारोबारी मॉडल बनाना, बैंकिंग सुविधा से वंचित या कम बैंकिंग सुविधाओं वाले भारतीय को वित्तीय सेवाओं के दायरे में लाना है।

इस बारे में संपर्क किए जाने पर पेटीएम के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी को उम्मीद है कि उसके भुगतान बैंक का परिचालन फरवरी में शुरू हो सकेगा। पहली शाखा उत्तर प्रदेश के नोएडा में खोली जाएगी। पेटीएम को इससे पहले पिछले साल दिवाली में परिचालन शुरू करना था। 

2015 में रिजर्व बैंक ने वन97 कम्युनिकेशंस के संस्थापक विजय शेखर शर्मा को इसके लिए ‘सैद्धान्तिक मंजूरी’ दे दी थी। उन्हें 10 अन्य के साथ भुगतान बैंक की स्थापना की मंजूरी मिली थी। बाद में तीन इकाइयां टेक महिंद्रा, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी तथा दिलीप सांघवी, आईडीएफसी तथा टेलीनार फाइनेंशियल सर्विसेज का गठजोड़ भुगतान बैंक लाइसेंसिंग से पीछे हट गया था।

फिलहाल सिर्फ एयरटेल ने भुगतान बैंक परिचालन शुरू किया है। आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक 2017 की पहली छमाही में परिचालन शुरू करेगा। पेटीएम भुगतान बैंक में शर्मा की बहुलांश हिस्सेदारी होगी। शेष हिस्सेदारी वन97 कम्युनिकेशंस के पास होगी।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.