close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिवाली से पहले घटे पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए क्या है आज का भाव

दिल्ली के अलावा मुंबई में भी तेल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है. मंगलवार को 14 पैसे की गिरावट के साथ मुंबई में पेट्रोल की कीमत 83.92 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है. जबकि आज डीजल 76.57 प्रति लीटर हो गई है.

दिवाली से पहले घटे पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए क्या है आज का भाव
फाइल फोटो

नई दिल्ली : देश के सबसे बड़े त्योहार दिवाली से पहले आम जनता को तेल की कीमतों ने बड़ी राहत दी है. मंगलवार (06 नवंबर) को लगातार 10वें दिन तेल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है. मंगलवार को राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 14 पैसों की गिरावट दर्ज की गई है. इस गिरावट के बाद पेट्रोल के दाम 78.42 रुपये प्रति लीटर हो गए है. वहीं, डीजल के दामों में 9 पैसे की गिरावट दर्ज की गई है. जिससे डीजल के दामों में 7.3.07 रुपये प्रति लीटर हो गई है.

दिल्ली के अलावा मुंबई में भी तेल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है. मंगलवार को 14 पैसे की गिरावट के साथ मुंबई में पेट्रोल की कीमत 83.92 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है. जबकि आज डीजल 76.57 प्रति लीटर हो गई है.

धनतेरस पर भी घटे थे तेल के दाम
धनतेरस पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है. सोमवार को भी राजधानी में पेट्रोल की कीमतों में 22 पैसे की कमी देखी गई. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत घट कर 78.56 पैसे प्रति लीटर पहुंच गई. वहीं डीजल की कीमतों में 20 पैसे की कमी देखी गई. डीजल की कीमत 73.16 रुपये प्रति लीटर रही. वहीं आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल की कीमत 84.06 रुपये दर्ज की गई. यहां भी पेट्रोल की कीमत में 22 पैसे की कमी दर्ज हुई. वहीं यहां पर डीजल की कीमत 21 पैसे घट कर 76.67 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गई.

10 दिन में कितने घटे पेट्रोल-डीजल के दाम

लगातार बढ़ रहे थे पेट्रोल-डीजल के दाम
पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने इन महीनों में अपने रिकॉर्ड तोड़े हैं. इस दौरान विपक्ष ने लगातार सरकार पर बढ़ती कीमतों को लेकर हमले भी किए. वहीं, सरकार सफाई देती रही है कि बढ़ती कीमतों की वजह वैश्विक बाजार में बढ़ती क्रूड ऑयल की कीमतें हैं. केंद्र सरकार ने 4 अक्टूबर को डीजल-पेट्रोल की कीमतों में 2.50 रुपए की कटौती का ऐलान किया था और राज्यों से भी ऐसा करने को कहा था. इससे लोगों को कुछ राहत तो मिली थी.