अब ट्रैफिक पुलिस नहीं रोक सकेगी आपकी कार, न कर सकेगी चेकिंग, जारी हुआ नया आदेश

मुंबई: New Traffic Rule: मुंबईकरों के लिए बड़ी राहत की खबर है. अब ट्रैफिक पुलिस आपको बेवजह रोककर परेशान नहीं कर सकेगी, आपकी गाड़ी की बेवजह चेकिंग भी नहीं कर सकेगी. कमिश्नर ऑफ पुलिस (CP) हेमंत नागराले ने इस बारे में एक सर्कुलर ट्रैफिक डिपार्टमेंट को जारी किया है. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 05, 2021, 11:23 AM IST

1/5

ट्रैफिक पुलिस गाड़ी की चेकिंग नहीं कर सकेगी

Traffic police will not be able to check the car

सर्कुलर में कहा गया है कि ट्रैफिक पुलिस वाले गाड़ियों की चेकिंग नहीं करेंगे, खासतौर पर जहां चेक नाका हो, वो सिर्फ ट्रैफिक की मॉनिटरिंग करेंगे और इस पर फोकस करेंगे कि ट्रैफिक सामान्य रूप से चले. वो किसी गाड़ी को तभी रोकेंगे जब उससे ट्रैफिक की रफ्तार पर कोई फर्क पड़ रहा हो.

 

 

2/5

चेकिंग से ट्रैफिक पर असर पड़ता है

Checking affects traffic

दरअसल, अक्सर देखा गया है कि ट्रैफिक पुलिस सिर्फ संदेह के आधार पर कहीं भी गाड़ियों को रोककर उनके बूट और गाड़ी के अंदर की जांच करने लग जाते हैं. जिससे उस सड़क पर ट्रैफिक प्रभावित होता है. 

 

3/5

ट्रैफिक पर निगरानी पहली प्राथमिकता

Traffic monitoring the first priority

CP नागराले की ओर से ट्रैफिक डिपार्टमेंट को जारी इस सर्कुलर में सभी यातायात पुलिस को गाड़ियों की जांच करने से रोकने के लिए कहा गया है क्योंकि सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ रहा है, उन्हें ट्रैफिक की आवाजाही पर निगरानी रखने को प्राथमिकता देने के लिए भी कहा गया है. सर्कुलर में ये कहा गया है कि अगर मोटर चालक यातायात नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं, तो उन्हें यातायात पुलिस मोटर वाहन अधिनियम के प्रावधानों के तहत आरोपित कर सकती है. 

4/5

नियम नहीं मानने पर कार्रवाई होगी

Action will be taken if the rules are not followed

उन्हें वाहनों की किसी भी तरह की जांच में शामिल नहीं होना चाहिए. यातायात पुलिस और स्थानीय पुलिसकर्मियों की ओर से संयुक्त नाकाबंदी के दौरान यातायात पुलिस केवल यातायात उल्लंघन के खिलाफ कार्रवाई करेगी और वाहनों की जांच नहीं करेगी. अगर इन निर्देशों को सख्ती से लागू नहीं किया जाता है, तो संबंधित यातायात चौकी के वरिष्ठ निरीक्षक को जिम्मेदार ठहराया जाएगा.

5/5

केवल संदेह के आधार पर बूट की जांच नहीं

Boot not checked on suspicion

यातायात पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने साफ किया कि यातायात पुलिस को संदेह के आधार पर वाहनों के बूट की जांच नहीं करनी चाहिए और न ही उन्हें रोकना चाहिए. उन्होंने कहा कि हमारे जवान पहले की तरह यातायात अपराधों के खिलाफ चालान जारी रखेंगे और यातायात उल्लंघन करने वालों को रोकेंगे.