PMC Bank मामले में आया नया मोड, जानिए RBI क्यों पहुंची Supreme Court

इस बार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) अपनी याचिका के साथ सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है. 

PMC Bank मामले में आया नया मोड, जानिए RBI क्यों पहुंची Supreme Court
फाइल फोटो

नई दिल्ली: पीएमसी बैंक (PMC Bank) घोटाले में फिर एक नया मोड़ आ गया है. महीने भर के भीतर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दूसरी बार बॉम्बे हाइकोर्ट (Bombay High Court) के फैसले को चुनौती मिली है. इस बार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) अपनी याचिका के साथ सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है. केंद्रीय बैंक ने कोर्ट में हाईकोर्ट के एक नए आदेश को चुनौती दी है.

क्या है नया मामला
मंगलवार को रिजर्व बैंक ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करते हुए कहा है कि बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा बैंक मालिकों की सम्पत्ति को नीलाम करने के आदेश पर रोक लगाई जाए. रिजर्व बैंक का कहना है कि वो पीएमसी बैंक को संकट से उबारने की कोशिश कर रहा है. अगर हाईकोर्ट के आदेश पर अमल करके बैंक मालिकों की सम्पत्ति नीलाम की जाती है तो रिजर्व बैंक की सारी मेहनत बेकार हो जाएगी. इस बाबत सुप्रीम कोर्ट से कहा गया है कि हाईकोर्ट के आदेश पर तत्काल रोक लगाई जाए.

हाईकोर्ट के एक फैसले पर प्रवर्तन निदेशालय भी जा चुका है सुप्रीम कोर्ट
पिछले महीने 16 जनवरी को प्रवर्तन निदेशालय (Directorate of Enforcement) भी पीएमसी बैंक पर हाईकोर्ट के एक आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था.  सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े की अध्यक्षता वाले बेंच को कहा था बॉम्बे हाईकोर्ट ने बैंक घोटाले के दोनों आरोपियों को जेल से आवास पर स्थानांतरित करने का आदेश दिया है. निदेशालय की मांग थी कि हाईकोर्ट के इस आदेश पर तत्काल रोक लगाई जाए. सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दिया था. 

उल्लेखनीय है कि पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी (PMC) बैंक घोटाला 7000 करोड़ रुपये का है. बैंक के कामकाज में अनियमितताएं और रीयल एस्टेट कंपनी एचडीआईएल को दिये गये कर्ज के बारे में सही जानकारी नहीं देने को लेकर उस पर पाबंदी लगाई गई थी. बैंक ने एचडीआईएल को अपने कुल कर्ज 8,880 करोड़ रुपये में से 6,500 करोड़ रुपये का कर्ज दिया था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.