PPF और NPS में कौन है रिटायरमेंट के लिए बेस्ट, 3000 रुपये मंथली निवेश किसमें बनेंगे 44 लाख?
X

PPF और NPS में कौन है रिटायरमेंट के लिए बेस्ट, 3000 रुपये मंथली निवेश किसमें बनेंगे 44 लाख?

PPF vs NPS: पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) और नेशनल पेंशन सिस्टम  (NPS) लंबी अवधि के निवेश हैं. हालांकि दोनों की निवेश विकल्पों के मकसद अलग अलग हो सकते हैं. NPS पूरी तरह के से एक रिटायरमेंट स्कीम है. इसमें निवेश इसलिए किया जाता है ताकि 60 साल की उम्र के बाद पेंशन मिलती रहे.

PPF और NPS में कौन है रिटायरमेंट के लिए बेस्ट, 3000 रुपये मंथली निवेश किसमें बनेंगे 44 लाख?

नई दिल्ली: PPF vs NPS: पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) और नेशनल पेंशन सिस्टम  (NPS) लंबी अवधि के निवेश हैं. हालांकि दोनों की निवेश विकल्पों के मकसद अलग अलग हो सकते हैं. NPS पूरी तरह के से एक रिटायरमेंट स्कीम है. इसमें निवेश इसलिए किया जाता है ताकि 60 साल की उम्र के बाद पेंशन मिलती रहे. PPF के जरिए पेंशन हासिल करने के लिए आपको मैच्योरिटी के बाद भी इसे चालू रखना पड़ता है. 

PPF और NPS में क्या अंतर है 

PPF 100 परसेंट डेट इंस्ट्रमेंट है, यानी इसका पूरा पैसा बॉन्ड्स वगैरह में लगता है, जबकि NPS में डेट और इक्विटी दोनों का हिस्सा होता है. NPS में निवेशक के पास ये विकल्प होता है कि वो इसमें इक्विटी का हिस्सा 75 परसेंट तक रख सकता है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर निवेशक की रिस्क लेने की क्षमता ज्यादा है तो वो डेट-इक्विटी का रेश्यो 50:50 रख सकता है, इससे लंबी अवधि में उसे 10 परसेंट तक रिटर्न मिल सकता है, जो कि PPF के 7.1 परसेंट से करीब 3 परसेंट ज्यादा है. 

NPS में मैच्योरिटी के बाद न्यूनतम 40 परसेंट हिस्सा अनिवार्य रूप से एन्यूटी में डालना होता है, एन्यूटी से यहां मतलब पेंशन से है. इसी से रिटायरमेंट के बाद आपको पेंशन मिलती है. 

ये भी पढ़ें- SBI के करोड़ों ग्राहकों के लिए जरूरी सूचना! आज रात से 3 दिन तक बाधित रहेंगी ये सेवाएं

VIDEO

टैक्स छूट भी मिलती है 

PPF, NPS दोनों में निवेश पर टैक्स छूट का फायदा मिलता है. इन दोनों में सालाना 1.5 लाख रुपये के निवेश पर इनकम टैक्स की छूट मिलती है. NPS में कोई तय मैच्योरिटी सीमा नहीं है, जबकि PPF 15 साल में मैच्योर हो जाता है, इसलिए जो लोग PPF में लंबी अवधि में निवेश को जारी रखना चाहते हैं तो उन्हें हर बार 5-5 साल 

की अवधि के लिए निवेश को आगे बढ़ाना होता है. यानी अगर कोई PPF को 30 या 35 साल के लिए जारी रखना चाहता है तो वो 5-5 साल के ब्लॉक में इसको जारी रख सकता है. एक्सपर्ट्स की सलाह है कि निवेशकों को PPF एक्सटेंशन का चुनाव करना चाहिए क्योंकि उन्हें कंपाउंडिंग इंटरेस्ट का फायदा मिलता है. 

आइए अब जानते हैं कि PPF और NPS में से कौन सा विकल्प आपको रिटायरमेंट पर ज्यादा फायदा या रकम देता है. मान लीजिए आपकी उम्र 30 साल है, आप अगले 30 सालों तक निवेश करना चाहते हैं ताकि जब आप 60 साल के हों तो आपके हाथ में एक मोटी रकम हो, जिससे आपका बुढ़ापा आराम से कट सके. 

PPF में हर महीने 3000 रुपये निवेश

उम्र                           30 साल

निवेश की अवधि         30 साल

हर महीने निवेश         3000 रुपये

सालाना रिटर्न            7.1 परसेंट

कुल निवेश               10.80 लाख

मैच्योरिटी वैल्यू           37.08 लाख

अगर आप 3000 रुपये मंथली PPF में डालते हैं, यानी साल का हुआ 36000 रुपये. इस निवेश को आप 30 साल तक जारी रखते हैं तो मौजूदा 7.1 परसेंट की ब्याज दर से आपको 30 साल बाद 37,08,219 रुपये मिलेंगे.           

NPS में हर महीने 3000 रुपये निवेश

उम्र                           30 साल

निवेश की अवधि         30 साल

हर महीने निवेश         3000 रुपये

अनुमानित रिटर्न         8.0 परसेंट

कुल निवेश               10.80 लाख

मैच्योरिटी वैल्यू           44.52 लाख

अगर आप इस मैच्योरिटी वैल्यू का 40 परसेंट से एन्यूटी में लगाते हैं, यानी 17.81 लाख आप एन्यूटी में डालते हैं तो आपके एकमुश्त रकम 26.71 लाख मिलेगी और मंथली पेंशन 11,874 रुपये होगी. यहां हमने एन्यूटी पर अनुमानित रिटर्न 8 परसेंट लिया है. 

ये भी पढ़ें- EPFO: क्या आपके अकाउंट में आया PF का पैसा? चुटकियों में जानिए अकाउंट बैलेंस

LIVE TV

Trending news