close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सरकारी बैंक के कर्मचारी हड़ताल पर, सरकार ने ATM में पर्याप्त रुपए रखने को कहा

वेतन वृद्धि एवं अन्य मांगों को लेकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मचारी चार दिन की क्रमिक हड़ताल पर हैं और इसकी शुरुआत आज दक्षिणी क्षेत्र से हुई। इसी कड़ी में उत्तर भारत में बैंक कर्मी बुधवार को हड़ताल करेंगे। इसको देखते हुए सरकार ने बैंकों से एटीएम में पर्याप्त नकदी रखने के साथ ग्राहकों की असुविधा को कम करने के लिये कदम उठाने को कहा है।

सरकारी बैंक के कर्मचारी हड़ताल पर, सरकार ने ATM में पर्याप्त रुपए रखने को कहा

नई दिल्ली : वेतन वृद्धि एवं अन्य मांगों को लेकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मचारी चार दिन की क्रमिक हड़ताल पर हैं और इसकी शुरुआत आज दक्षिणी क्षेत्र से हुई। इसी कड़ी में उत्तर भारत में बैंक कर्मी बुधवार को हड़ताल करेंगे। इसको देखते हुए सरकार ने बैंकों से एटीएम में पर्याप्त नकदी रखने के साथ ग्राहकों की असुविधा को कम करने के लिये कदम उठाने को कहा है।

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बैंकों को एहतियाती कदम उठाने चाहिए जिससे ग्राहकों को कम-से-कम कठिनाई हो। साथ ही एटीएम में पर्याप्त नकदी रहे। मंत्रालय ने बैंकों से क्लीयरिंग हाउस के परिचालन सुनिश्चित करने के साथ इंटरनेट बैंकिंग बनाये रखने तथा बिना किसी बाधा के सरकारी कारोबारी लेन-देन के लिये व्यवस्था करने को कहा है। वेतन वृद्धि और अन्य मांगों को लेकर दक्षिणी क्षेत्र के बैंक कर्मचारी आज हड़ताल पर रहे।

अखिल भारतीय बैंक इंप्लायज एसोसिएशन (एआईबीईए) के महासचिव सी एच वेंकटचलम ने दावा किया कि दक्षिण भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की करीब 22,000 शाखाएं आज बंद रही। कुल 1.5 लाख कर्मचारी हड़ताल में शामिल हुए। हड़ताल के कारण चेन्नई क्लीयरिंग हाउस सेंटर प्रभावित रहा। यह केंद्र दक्षिणी राज्यों के लिये क्लीयरिंग हाउस का काम करता है। वेंकटचलम ने दावा किया कि हड़ताल के कारण करीब 1,75,000 करोड़ रपये मूल्य के लगभग 2.50 करोड़ चैक अटक गये।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंककर्मी चार दिन की क्रमिक हड़ताल कर रहे हैं। इस कड़ी में उत्तरी क्षेत्र के बैंक कर्मचारी कल हड़ताल पर रहेंगे। हालांकि, दक्षिण क्षेत्र के छह राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश में स्थित निजी क्षेत्र के बैंकों में कामकाज सामान्य दिनों की तरह जारी रहा। यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन्स (यूएफबीयू) के संयोजक एम वी मुरली ने कहा, भारतीय बैंक संघ के साथ कल की बैठक बेनतीजा रही, अत: हम हड़ताल पर जाने को मजबूर हुए। यूएफबीयू बैक कर्मचारी तथा अधिकारियों के नौ संगठनों का मंच है।

बैंक हड़ताल के कारण अब उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब तथा दिल्ली स्थित बैंकों में कामकाज कल प्रभावित रहेगा। कुछ बैंकों ने पहले ही अपने ग्राहकों को इस हड़ताल के कारण होने वाली असुविधा के बारे में जानकारी दे दी है। इसके बाद चार दिसंबर को पूर्वी क्षेत्र तथा पांच दिसंबर को पश्चिमी क्षेत्र के बैंककर्मी हड़ताल पर रहेंगे। पिछले 30 दिनों में यह दूसरा मौका है जब बैंककर्मी हड़ताल पर गये हैं। इससे पहले, 12 नवंबर को बैंक कर्मचारियों ने हड़ताल की थी।