close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PSB ने पिछले साल 8582 लोगों को इरादतन डिफॉल्टर घोषित किया

वित्त वर्ष 2018-19 में 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया गया. इसके साथ ही 2017-18 में 7,535 और 7,079 को चूककर्ता घोषित किया गया.

PSB ने पिछले साल 8582 लोगों को इरादतन डिफॉल्टर घोषित किया
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: सरकार ने सोमवार को बताया कि राष्ट्रीय बैंकों ने वित्त वर्ष में 2018-19 के दौरान कुल 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया. लोकसभा में कुंवर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल और श्रीरंग अप्पा बारणे के प्रश्नों के लिखित उत्तर में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि 31 मार्च, 2019 तक राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा 8,121 मामलों में वूसली के लिए मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं. उन्होंने सदन के समक्ष राष्ट्रीयकृत बैंकों के लिए इरादतन चूककर्ताओं से संबंधित आंकड़े पेश किए.

इसके मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया गया. इसके साथ ही 2017-18 में 7,535 और 7,079 को चूककर्ता घोषित किया गया. मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीयकृत बैंकों के आंकड़ों के मुताबिक विगत पांच वर्षों में 7,654 करोड़ रुपये की राशि इरादतन चूककर्ताओं से वसूल की गई.