इंडिगो-कतर एयरवेज कोड शेयर समझौता दिसंबर से होगा लागू

विमानन भाषा में एक कोड शेयर समझौता होने पर विमानन सेवाएं यात्रियों को अधिक डेस्टिनेशंस के विकल्पों की सुविधा देने के लिए एक-दूसरे को अपनी उड़ानों के टिकट बेच सकती हैं. कतर एयरवेज और इंडिगो के बीच वन-वे कोड शेयर समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए अल बकर हाल ही में नई दिल्ली आए थे.

इंडिगो-कतर एयरवेज कोड शेयर समझौता दिसंबर से होगा लागू
फाइल फोटो

नई दिल्ली : इंडिगो (Indigo) के साथ अपनी साझेदारी बढ़ाने का इंतजार कर रही दोहा की कतर एयरवेज भारत की प्रमुख विमानन कंपनी के साथ अपने कोड शेयर समझौते को दिसंबर तक लागू कर देगी. कतर (Qatar) एयरवेज के समूह मुख्य कार्यकारी अकबर अल बकर के अनुसार, कतर एयरवेज इंडिगो में निवेश के लिए रुचि दिखा रही है, लेकिन बजट कैरियर के प्रमोटर्स के बीच समय का मुद्दा सुलझने तक उसे इंतजार करना होगा.

अल बकर ने कहा, "हम इंडिगो के साथ अपने रिश्ते बढ़ाना चाहते हैं." उन्होंने कहा, "विमानन कंपनी में कुछ असहमतियां हैं, इसलिए इनका समाधान होने तक हम इंडिगो के साथ अपनी भविष्य की योजनाओं पर अभी और कोई बयान नहीं दे सकते." नए कोडशेयर पर उन्होंने कहा कि दोनों विमानन सेवाओं का सिस्टम इंटीग्रेटेड होने के बाद समझौता दिसंबर में लागू हो जाएगा.

विमानन भाषा में एक कोडशेयर समझौता होने पर विमानन सेवाएं यात्रियों को अधिक डेस्टिनेशंस के विकल्पों की सुविधा देने के लिए एक-दूसरे को अपनी उड़ानों के टिकट बेच सकती हैं. कतर एयरवेज और इंडिगो के बीच वन-वे कोडशेयर समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए अल बकर हाल ही में नई दिल्ली आए थे.

इस समझौते से कतर एयरवेज को दोहा से दिल्ली, मुंबई (Mumbai) और हैदराबाद (Hyderabad) जाने वाली इंडिगो की उड़ानों पर उसका कोड लगाने की सुविधा मिलेगी. अल बकर ने कहा, "नए समझौते से कतर एयरवेज के नेटवर्क को एक्सेस करने में सक्षम यात्रियों को अनंत यात्रा की सुविधा मिलेगी." उन्होंने कहा कि इससे इंडिगो को हैल्थ पैसेंजर वोल्यूम्स उपलब्ध होगा.

कतर एयरवेज फिलहाल दोहा और भारत के अहमदाबाद, अमृतसर, बेंगलुरू, चेन्नई, दिल्ली, गोवा, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता, कोझिकोड, मुंबई, नागपुर और तिरुवनंतपुरम के बीच 102 साप्ताहिक उड़ानें संचालित करती है. इसके अलावा कतर एयरवेज के लगभग 250 विमान हैं, जो दुनियाभर में लगभग 160 स्थानों के लिए उड़ान सेवाएं देते हैं.