Unlock 4 : फेस्टिव सीजन में शुरू होंगी 100 ट्रेनें, रेलवे को बस इस मंजूरी का इंतजार

कोरोना संकट के बीच आज से अनलॉक 4.0 की शुरुआत हो गई है. ज़ी न्यूज को सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे जल्द ही 100 ट्रेनों को चलाने का ऐलान कर सकता है. रेलवे ने एक प्रस्ताव गृह मंत्रालय को भेजा है और ट्रेनें चलाने की मंजूरी मांगी है.

Unlock 4 : फेस्टिव सीजन में शुरू होंगी 100 ट्रेनें, रेलवे को बस इस मंजूरी का इंतजार
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच आज से अनलॉक 4.0 की शुरुआत हो गई है. ज़ी न्यूज को सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे जल्द ही 100 ट्रेनों को चलाने का ऐलान कर सकता है. रेलवे ने एक प्रस्ताव गृह मंत्रालय को भेजा है और ट्रेनें चलाने की मंजूरी मांगी है. गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलते ही ट्रेनों को चलाने का ऐलान किया जाएगा.

रेल मंत्रालय ने अभी लगभग 120 ट्रेनें तय की हैं जिनका प्रस्ताव मंजूरी के लिए गृह मंत्रालय के पास भेजा गया है. कोरोना प्रोटोकॉल के चलते ट्रेनें चलाने के लिए गृह मंत्रालय से मंजूरी जरूरी है. एक बार मंजूरी मिल जाएगी तभी ये तय होगा कि कितनी ट्रेनें चलाई जाएंगी और कब से ये सेवाएं शुरू हो सकती हैं.

ट्रेनों को चलाने के लिए रेलवे राज्यों के साथ तालमेल बिठाएगी, ये तय होगा कि किस शहर को कितनी ट्रेनों की जरूरत है. इस पूरे आंकलन के बाद ही ट्रेनों को चलाने की घोषणा होगी. रेलवे की कोशिश होगी कि देश के सभी क्षेत्रों में रेल कनेक्टिविटी को फिर से बहाल किया जाए. और यात्रियों की आवाजाही को बढ़ाया जाए. 

रेलवे की योजना कुछ सब-अर्बन ट्रेनों को शुरू करने की भी है, यानि लोकल ट्रेनों को लेकर भी जल्द ही ऐलान हो सकता है. फिलहाल 230 ट्रेनें चलाई जा रही हैं. लेकिन देश के कई हिस्सों में अभी ट्रेन सेवाएं नहीं शुरू हुईं हैं. आपको बता दें कि रेल मंत्रालय पहले से ही चरणबद्ध ढंग से रेल सेवाएं शुरू करने की बात कर चुका है.

यात्रियों की मांग और कोरोना संक्रमण के हालात को देखते हुए ट्रेनें चलाई जानी थीं, मगर बार-बार प्‍लान कैंसिल कर दिया गया. अब जब केंद्र सरकार ने अनलॉक 4 के तहत सितंबर के दूसरे हफ्ते से मेट्रो रेल सेवाएं शुरू करने की इजाजत दे दी है तो और ट्रेनें शुरू होने की उम्मीद जगी है. 

दरअसल, त्योहारों का सीजन शुरू होने वाला है. इसलिए ट्रेनों की मांग भी बढ़ सकती है. इसलिए रेलवे भी जल्द से जल्द ट्रेन सेवाएं सामान्य करने की कोशिश कर रही है. एक RTI से मिली जानकारी के मुताबिक, भारतीय रेलवे ने मार्च से 1.78 करोड़ से ज्यादा टिकट रद्द किए हैं.
इसी दौरान 2,727 करोड़ रुपये की रकम वापस की गई. रेलवे ने 25 मार्च से ही अपनी यात्री ट्रेन सेवाएं स्थगित कर दी थी. इस तरह, पहली बार रेलवे को टिकट बुकिंग से जितनी आमदनी हुई उससे ज्यादा रकम वापस की गई. 

ये भी पढ़ें: लोन मोरेटोरियम पर सुप्रीम कोर्ट ने क्यों बोला 'Please be fair', जानिए कब तक मिल सकती है राहत

LIVE TV