रेलवे देगा रोजगार, जो लौट गए घर उनके लिए आई ये खुशखबरी

 31 अक्टूबर तक अगले 125 दिनों के दौरान 1,800 करोड़ रूपये की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में प्रवासी श्रमिकों एवं अन्य को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिये आठ लाख मानव दिवस सृजित करेगा. 

रेलवे देगा रोजगार, जो लौट गए घर उनके लिए आई ये खुशखबरी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस और लॉकडाउन के इस घड़ी में ज्यादातर प्रवासी मजदूर अपने गांव – घर पहुंच चुके हैं. इन हालातों में अब शहर वापस आना मुमकिन नहीं है लेकिन साथ ही घर चलाने के लिए रोजगार की चिंता भी एक बड़ी समस्या है. ऐसे में भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने ऐलान किया है कि इन प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार के मौके उपलब्ध कराया जाएगा.

प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार
रेलवे ने बुधवार को कहा कि वह 31 अक्टूबर तक अगले 125 दिनों के दौरान 1,800 करोड़ रूपये की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में प्रवासी श्रमिकों एवं अन्य को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिये आठ लाख मानव दिवस सृजित करेगा. अधिकारियों ने बताया कि यह छह राज्यों के 118 जिलों में लागू किये जा रहे सरकार के ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान (Greeb Kalyan Rozgar Yojna) का हिस्सा होगा.

रेलवे बोर्ड (Railway Board) के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने बुधवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सार्वजनिक उपक्रमों के महाप्रबंधकों, संभागीय रेल प्रबंधकों और प्रबंध निदेशकों के साथ एक बैठक की. एक बयान के अनुसार रेलवे सभी 116 जिलों में तथा राज्य स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त करेगा. रेलवे के बयान में कहा गया है, '125 दिनों का यह अभियान मिशन आधार पर चलेगा और उसमें 116 जिलों में कार्यों/गतिविधियों की विभिन्न श्रेणियों के क्रियान्वयन पर बल दिया जाएगा. बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा के इन जिलों में बाहर से लौटे प्रवासी श्रमिकों की अच्छी खासी तादाद है.'

बैठक में यादव ने जोनल रेलवे को हर जिले और राज्यों में नोडल अधिकारी नियुक्त करने का निर्देश दिया ताकि राज्य सरकार के साथ करीबी तालमेल कायम किया जा सके. बयान में कहा गया है, ' जोनल रेलवे को इन चिह्नित जिलों में सभी मौजूदा बुनियादी ढांचा कार्यों को जल्दी से पूरा कराने का निर्देश दिया गया है. बुनियादी ढांचे के करीब 160 कामों की पहचान की गयी है जिन्हें तेजी से पूरा किया जाना है.'

ये भी देखें-

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने लिए हैं 5 अहम फैसले, करोड़ों भारतीयों को मिलेगा जबर्दस्त फायदा

इन कामों में रेलवे फाटकों तक संपर्क मार्गों के निर्माण एवं रखरखाव, रेलमार्गों से सटे जलमार्गों, नालों आदि से गाद निकालना, रेलवे स्टेशनों तक संपर्क मार्ग का निर्माण एवं रखरखाव, वर्तमान रेल तटबंधों की मरम्मत एवं उसे चौड़ा करना, रेलवे जमीन पर पौधारोपण करना आदि शामिल हैं.