RBI ने जारी किया अलर्ट, कोरोनाकाल में बढ़ रहे हैं साइबर अपराध, एक गलती से हो सकता है भारी नुकसान

हाल में सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर हुए अब तक के सबसे बड़े साइबर हमले के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बड़ा अलर्ट जारी किया है.

RBI ने जारी किया अलर्ट, कोरोनाकाल में बढ़ रहे हैं साइबर अपराध, एक गलती से हो सकता है भारी नुकसान
फाइल फोटो

नई दिल्लीः हाल में सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर हुए अब तक के सबसे बड़े साइबर हमले के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बड़ा अलर्ट जारी किया है. केंद्रीय बैंक ने कहा है कि कोरोनाकाल में साइबर अपराध लगातार बढ़ रहे हैं. एक छोटी से गलती से किसी भी व्यक्ति को बहुत बड़ी आर्थिक चोट लग सकती है.

ये कहता है RBI
बैंक ने सोशल मीडिया पर ट्वीट किया है कि "@RBI कहता है...अपनी निजी जानकारी को हमेशा सुरक्षित रखें. आईडेंटिटी थेफ्ट से सावधान रहें. हमेशा सेफ बैंकिंग नियमों का पालन करें." इसके साथ ही बैंक ने एक जीआईएफ भी शेयर किया है. 

क्या नहीं है करना
जीआईएफ में RBI ने कहा है कि साइबर स्कैम लगातार बढ़ रहे हैं. इससे बचाव के लिए ग्राहकों को अपना ओटीपी, यूपीआई पिन या फिर बैंक डिटेल्स किसी के साथ शेयर न करें. इन डिटेल्स को लेकर के फ्रॉड करने वाला व्यक्ति वर्चुअल पेमेंट अकाउंट (VPA) बना सकता है और खाते से पैसा निकाल सकता है. 

10 में से चार व्यक्तियों के साथ हो रहा है Identity theft
Identity theft देश में प्रत्येक 10 में चार व्यक्तियों के साथ हो रहा है. पिछले साल की तुलना में इस बार केवल मार्च से लेकर के अभी तक इसमें काफी बढ़ोतरी देखने को मिली है. पिछले साल नॉर्टन लाइफ लॉक द्वारा जारी कि गई एक रिपोर्ट के अनुसार 63 फीसदी लोगों को नहीं पता है कि आईडेंटिटी थेफ्ट हो जाने पर क्या किया जाना चाहिए.

वहीं 79 फीसदी लोगों का मानना है कि उन्हें इसके बारे में और ज्यादा जानकारी चाहिए. 

क्या करना चाहिए आपको
हमेशा ऑनलाइन शॉपिंग करते वक्त भरोसेमंद वेबसाइट से ही ट्रांजेक्शन करें. सिक्योर नेटवर्क पर ही वित्तीय ट्रांजेक्शन करें. इसके साथ ही हमेशा ऐसे डिवाइस देख लें जो कार्ड रीडर या फिर एटीएम पर अटैच न हो. इसके साथ ही बैंक के स्टेटमेंट और क्रेडिट रिपोर्ट का भी हमेशा ध्यान रखें. 

यह भी पढ़ेंः दुनिया में दिख रही सुस्‍ती, भारत में बढ़ रहा FDI का प्रवाह: PM मोदी

ये भी देखें---