RBI ने की रेपो रेट में 35 प्वाइंट्स की कटौती, जल्द सस्ते होंगे लोन और EMI

रिजर्व बैंक ने लगातार चौथी बार रेट कट का ऐलान किया है. 2019 में अब तक रेपो रेट में 1.10 फीसदी की कटौती की जा चुकी है.

RBI ने की रेपो रेट में 35 प्वाइंट्स की कटौती, जल्द सस्ते होंगे लोन और EMI
गवर्नर शक्तिकांत दास. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने रेपो रेट कट का ऐलान किया है. रेपो रेट में 35 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती की गई है. रिवर्स रेपो रेट में भी 35 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती हुई है. अब रेपो रेट 5.40 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 5.15 फीसदी कर दिया गया है. पहले रेपो रेट 5.75 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 5.50 फीसदी था. रिजर्व बैंक ने लगातार चौथी बार रेट कट का ऐलान किया है. 2019 में अब तक रेपो रेट में 1.10 फीसदी की कटौती की जा चुकी है.

इसके अलावा मॉनिटरी पॉलिसी की बैठक में NBFC को पूंजी उपलब्धता को लेकर भी फैसले लिए गए हैं. रेपो रेट कट होने से बैंकों को अब सस्ता लोन मिलेगा जिसकी वजह से वह ग्राहकों को सस्ता लोन बांट पाएंगे. साथ ही EMI में भी कटौती होगी. आर्थिक विशेषज्ञों को पूरी संभावना थी कि रिजर्व बैंक रेट कट का ऐलान करेगा. रिजर्व बैंक ने अर्थव्यवस्था की विकास दर के अनुमान को भी घटा दिया है. वित्त वर्ष 2019-20 के लिए विकास दर का अनुमान 7 फीसदी से घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया गया है. 

 

रिजर्व बैंक ने कैश रिजर्व रेशियो (CRR) 4 फीसदी पर बरकरार रखा है. अगली पॉलिसी अब 4 अक्टूबर को पेश की जाएगी. रेट कट का ऐलान करते हुए गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि जून की बैठक के बाद ग्लोबल ग्रोथ में धीमापन आया है. मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी के 6 में से 4 सदस्यों ने रेट कट के पक्ष में मतदान किया है.

दिसंबर से 24 घंटे NEFT की सुविधा का ऐलान किया गया है. पहली तिमाही में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित महंगाई दर 3.6 फीसदी रही. रिजर्व बैंक ने कहा कि मॉनसून में तेजी से कृषि क्षेत्र में सुधार की संभावनाएं बढ़ी हैं. हालांकि, वर्तमान में शहरी मांग और पैंसेजर कार की मांग में कमी आई है.