close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Flipkart से सचिन के जाने पर भावुक हुए बिन्नी बंसल, कह दिया ये...

फ्लिपकार्ट- वॉलमार्ट सौदे (flipkart walmart deal) की घोषणा के बाद भारतीय स्टार्टअप परिदृश्य के 'जय-वीरू' माने जाने वाले दो दोस्त बिछड़ गए. सचिन बंसल ने 11 वर्ष पहले बनाई गई कंपनी को छोड़ने का फैसला किया है, जो कि दूसरे के लिए दुखद क्षण है.

Flipkart से सचिन के जाने पर भावुक हुए बिन्नी बंसल, कह दिया ये...

नई दिल्ली : फ्लिपकार्ट- वॉलमार्ट सौदे (flipkart walmart deal) की घोषणा के बाद भारतीय स्टार्टअप परिदृश्य के 'जय-वीरू' माने जाने वाले दो दोस्त बिछड़ गए. सचिन बंसल ने 11 वर्ष पहले बनाई गई कंपनी को छोड़ने का फैसला किया है, जो कि दूसरे के लिए दुखद क्षण है. फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर बिन्नी बंसल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सचिन बंसल का कंपनी छोड़ने का निर्णय 'बहुत ही भावुक क्षण' था. बिन्नी से जब पूछा गया कि क्या आपने सचिन को मनाने या रोकने की कोशिश नहीं की तो उन्होंने कहा कि यह कहना थोड़ा होगा.

हम दोनों एक-दूसरे के लिए आधार स्तंभ की तरह
वॉलमार्ट के फ्लिपकार्ट में अधिकांश हिस्सेदारी का अधिग्रहण करने पर सचिन ने अपने 5.5 प्रतिशत हिस्सेदारी एक अरब डॉलर में बेच दी और कंपनी छोड़ दी. बिन्नी ने फ्लिपकार्ट की यात्रा को याद करते हुए कहा, 'किसी भी अन्य चीज से अधिक, यह हम सभी के लिए बहुत ही भावुक पल है. सचिन और मैंने एकसाथ लंबा रास्ता तय किया है. हम 2005 में मिले जब हम आईआईटी दिल्ली से निकले. हम दोनों बेंगलुरु गए. आईआईटी दिल्ली से हम 8 लोगों का ग्रुप था. हम सब अच्छे दोस्त थे. मुझे लगता है कि हम दोनों एक-दूसरे के लिए आधार स्तंभ की तरह हैं.

Railway के 90 हजार पदों पर आवेदन करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी

कमान दूसरे के हाथ में सौंपने का समय
दूसरी ओर सचिन बंसल ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा कि फ्लिपकार्ट में मेरा काम पूरा हो गया है और फ्लिपकार्ट से जाने और कमान दूसरे के हाथ में सौंपने का समय है.' बेंगलुरु आने के बाद सचिन अमेजन से जुड़े और बिन्नी की सिफारिश की. इसके बाद दोनों ने मिलकर 4 लाख रुपये से कंपनी शुरू की. सबसे पहले उन्होंने ऑनलाइन किताबें बेचना शुरू किया.

फेसबुक पोस्ट में लिखी यह बात
इससे पहले वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील के बाद कंपनी से अलग हुए सचिन बंसल ने भावुक फेसबुक पोस्ट के जरिये फ्लिपकार्ट से विदाई ली. साथ ही उन्होंने बताया कि अब वह अपना समय लंबित पड़ी व्यक्तिगत परियोजनाओं को पूरा करने में लगाएंगे. बंसल ने कहा, 'दुख की बात है कि मेरा काम यहां पूरा हो गया और 10 वर्ष बाद अब फ्लिपकार्ट की कमान किसी और सौंपने तथा यहां से जाने का वक्त आ गया है.'

और ताकतवर हुए मुकेश अंबानी, इस मामले में इकलौते भारतीय बिजनेसमैन

गेमिंग क्षेत्र पर देंगे ध्यान
बंसल ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा, 'मैं लंबी छुट्टी पर जा रहा हूं और कुछ व्यक्तिगत परियोजनाओं को खत्म करने पर ध्यान केंद्रित करूंगा, जिसके लिए मैं समय नहीं निकाल पाया. वह गेमिंग क्षेत्र पर ध्यान देंगे और अपने कोडिंग कौशल को और अधिक निखारेंगे.'