Breaking News
  • देश में आत्‍मनिर्भर भारत सप्‍ताह की शुरुआत
  • दूसरों की ताकत पर निर्भर नहीं रहना चाहिए: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
  • कश्‍मीर: शाह फैसल ने अपना दल छोड़ा, प्रशासिनक क्षेत्र में वापस लौटने की अटकलें

मंदी की मार? इस कंपनी में पांच की बजाए चार दिन ही होगा काम

मंदी का असर अब धरातल में दिखने लगा है

मंदी की मार? इस कंपनी में पांच की बजाए चार दिन ही होगा काम
फाइल फोटो

नई दिल्ली: अभी तक तो ज्यादातर अर्थशास्त्री मंदी पर अदेंशा ही जता रहे थे. लेकिन इसका असर अब धरातल में दिखने लगा है. गाड़ियों के कलपुर्जे बनाने वाली कंपनी WABCO India ने अपने सभी प्लांट्स में कर्मचारियों और मजदूरों को हफ्ते में पांच की बजाए सिर्फ चार दिन ही काम पर आने को कहा है. बताते चलें कि कंपनी देश के तमिलनाडु, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और झारखंड़ में कलपुर्जें बनाने के प्लांट चलाती है.

WABCO India द्वारा अपने कर्मचारियों को भेजे पत्र में कहा गया है कि कमजोर मांग और जरूरत को ध्यान में रखकर ये फैसला लिया गया है कि शुक्रवार को छुट्टी घोषित किया जाए. हम मार्च 2020 में पूरे महीने हफ्ते में सिर्फ चार दिन की प्रोडक्शन करेंगे. 

मामले से जुड़े एक अन्य अधिकारी का कहना है कि पिछले दो महीनों से कार कंपनियों की ओर से कलपुर्जे की मांग घटी है. खुद कार कंपनियों ने भी फरवरी महीने में मांग 30-50 तक घटने की बात मानी है. ऐसे में छोटी कंपनियों के पास प्रोडक्शन कम करने के अलावा कोई दूसरा उपाय नहीं है. यही वजह है कि WABCO India ने भी कर्मचारियों की छंटनी करके की बजाए हफ्ते में कम काम कराने का फैसला किया है.

बताते चलें कि विभिन्न कार कंपनियों ने फरवरी के अंतिम दिन अपने बिक्री के आंकड़े जारी किए हैं. इसके अनुसार ज्यादातर कार कंपनियों को 30-50 प्रतिशत तक का नुकसान हुआ है. मसलन, होंडा कार्स (Honda) इंडिया लिमिटेड की घरेलू बिक्री फरवरी में 46.26 प्रतिशत घटकर 7,269 वाहन रही. टाटा मोटर्स (Tata Motors) की घरेलू बिक्री फरवरी में 34 प्रतिशत घटकर 38,002 वाहन रही.  महिंद्रा एंड महिंद्रा (Mahindra & Manhindra) की कुल बिक्री बीते महीने फरवरी में पिछले साल के मुकाबले 42 फीसदी घटकर 32,476 रही. और मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki) ने 3.6 प्रतिशत की गिरावट के साथ फरवरी माह में कुल 1,47,110 कारें बेचीं. (IANS Input)