close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केदारनाथ में जिस गुफा में पीएम मोदी ने की साधना, आप भी इतने पैसे देकर वहां लगा सकते हैं ध्यान

 प्रधानमंत्री जिस गुफा में ध्यान कर रहे थे, वह कोई साधारण गुफा नहीं है. इस गुफा में जरूरत के सभी साधन उपलब्ध हैं. इस गुफा को आर्किटेक्ट ने शानदार लुक दिया है. यहां बिजली, पानी और वॉशरूम की उचित व्यवस्था है.

केदारनाथ में जिस गुफा में पीएम मोदी ने की साधना, आप भी इतने पैसे देकर वहां लगा सकते हैं ध्यान
इस गुफा में टेलीफोन की भी सुविधा है. (फाइल)

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव को लेकर प्रचार का सिलसिला थमने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को केदारनाथ पहुंचे. यहां वे एक गुफा में पहुंच कर ध्यान लगाया जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रही है. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री जिस गुफा में ध्यान कर रहे थे, वह कोई साधारण गुफा नहीं है. इस गुफा में जरूरत के सभी साधन उपलब्ध हैं. इस गुफा को आर्किटेक्ट ने शानदार लुक दिया है. यहां बिजली, पानी और वॉशरूम की उचित व्यवस्था है. गुफा के बाहर पत्थर को खूबसूरती से सजाया गया है और प्राइवेसी का ध्यान रखते हुए लकड़ी के दरवाजे भी लगे हुए हैं.

इन गुफाओं का विकास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMVN) की तरफ से किया गया है. इन गुफाओं को मेडिटेशन केव (योग गुफा) नाम दिया गया है. GMVN अधिकारियों का कहना है कि इसे पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से बनाया गया है जो केदारनाथ मंदिर से करीब 1 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित है. अगर आप भी इन गुफाओं में जाना चाहते हैं तो इसका शुल्क 990 रुपये रोजाना है.

Rudra meditation cave where PM Narendra Modi mediated, can be rented for 990 per day

'योग गुफा' के निर्माण के बाद इसका शुल्क रोजाना 3000 रुपये रखा गया था. लेकिन, कम लोगों के आने की वजह से इसका किराया 990 रुपये कर दिया गया है. पहले इसे कम से कम तीन दिनों के लिए बुक करना पड़ता था, लेकिन अब इस शर्त को हटा दी गई है.

Rudra meditation cave where PM Narendra Modi mediated, can be rented for 990 per day

बता दें, जो पर्यटक इस गुफा को किराये पर लेते हैं उन्हें GMVN की तरफ से नास्ता, खाना, रात का खाना और दो समय चाय दी जाती है. इसके अलावा 24  घंटे अटेंडेंट की भी सुविधा है, जो एक कॉल बेल की दूरी पर उपलब्ध है. 'योग गुफा' बहुत ही ऊंचाई पर स्थित है और वहां पहुंचने में भी कठिनाई होती है, इसलिए एक समय में केवल एक शख्स ही गुफा में रह सकता है. इस गुफा को विशेष रूप से योग करने वालों के लिए ही बनाया गया है, जिन्हें शांति और एकांकी की तलाश होती है. बता दें, गुफा में एक फोन भी लगाया गया है, जिसका इस्तेमाल इमरजेंसी के लिए किया जा सकता है.