चुनावी ऐलान से शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्स ने लगाई 300 अंक की छलांग

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद देश के प्रमुख शेयर बाजार सोमवार को गुलजार दिखाई दिए. शुरुआती कारोबार में ही शेयर बाजार का दमदार प्रदर्शन दिखाई दिया.

चुनावी ऐलान से शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्स ने लगाई 300 अंक की छलांग

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद देश के प्रमुख शेयर बाजार सोमवार को गुलजार दिखाई दिए. शुरुआती कारोबार में ही शेयर बाजार का दमदार प्रदर्शन दिखाई दिया. सेंसेक्स सोमवार को 70.14 अंकों की तेजी के साथ 36,741.57 पर जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 33.35 अंकों की बढ़त के साथ 11,068.75 पर खुला.

निफ्टी 11 हजार के पार
कारोबारी सत्र के दौरान करीब 11.40 बजे 30 शेयर वाला सेंसेक्स 300 अंक की तेजी के साथ 36,971.43 के स्तर पर पहुंच गया. लगभग इसी समय 50 अंकों वाला निफ्टी 107.9 अंक की तेजी के साथ 11143.30 के स्तर पर देखा गया. (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 33.35 अंकों की बढ़त के साथ 11,068.75 पर खुला. सरकारी बैंकों में सोमवार को जोरदार उछाल देखने को मिला है. प्राइवेट बैंकों में भी खरीदारी देखने को मिल रही है.

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी तेजी
बैंक निफ्टी 0.92 फीसदी की बढ़त के साथ 28016.85 के स्तर पर दिख रहा है. निफ्टी का पीएसयू बैंक इंडेक्स में 2.60 फीसदी और प्राइवेट बैंक इंडेक्स में 0.78 फीसदी की बढ़त देखने को मिल रही है. बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1.22 फीसदी की बढ़त के साथ 14985.23 के स्तर पर दिख रहा है. वहीं, स्मॉलकैप इंडेक्स 1.09 फीसदी की बढ़त के साथ 14687.07 के स्तर पर नजर आ रहा है. तेल और गैस शेयरों में भी अच्छी बढ़त देखने को मिल रही है. बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 2.11 फीसदी की बढ़त के साथ 14617.14 के स्तर पर नजर आ रहा है.

रुपया 15 पैसे मजबूत
शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे की मजबूती के साथ 69.99 पर चल रहा है. इसकी अहम वजह विदेशी पूंजी का प्रवाह बढ़ना और डॉलर का कमजोर पड़ना है. शुक्रवार को पिछले सत्र के कारोबार में रुपया 14 पैसे घटकर 70.14 पर बंद हुआ था. मुद्रा कारोबारियों के अनुसार अमेरिकी फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जीरोम पॉवेल के केंद्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी को लेकर हड़बड़ी नहीं दिखाने की बात कहने के बाद अधिकतर एशियाई मुद्राओं के मुकाबले डॉलर के कमजोर पड़ने का लाभ रुपये को मिला है. विदेशी निवेशकों के निवेश बढ़ाने और घरेलू शेयर बाजारों के बेहतर स्तर पर खुलने का समर्थन भी रुपया को मिला है. विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को 1,095.06 करोड़ रुपये की शेयर खरीद की.