close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'मोदी सरकार' के वापस आने की उम्मीद से बाजार में बहार, 6 महीने की सबसे लंबी छलांग

सेंसेक्स  37054.10 अंक पर बंद हुआ जो 19 सितंबर 2018 के बाद सबसे ऊंचा बंद स्तर है.

'मोदी सरकार' के वापस आने की उम्मीद से बाजार में बहार, 6 महीने की सबसे लंबी छलांग
NIFTY भी 132.65 अंक की बढ़त के साथ 11168.05 अंक पर बंद हुआ. (फाइल)

मुंबई: बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार को 383 अंक की लंबी छलांग के साथ 37,000 अंक के स्तर को पार कर गया. यह सेंसेक्स की छह माह में एक दिन की सबसे बड़ी बढ़त है. सकारात्मक वैश्विक रुख के बीच विदेशी कोषों के निवेश से रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक और भारती एयरटेल के शेयरों में लाभ रहा. विशेषज्ञों ने कहा कि रविवार को 2019 के आम चुनाव की घोषणा के बाद निवेशक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के पुन: सत्ता में आने की उम्मीद कर रहे हैं, जिसके चलते उन्होंने अपना निवेश बढ़ाया है. 

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मजबूत रुख के साथ खुलने के बाद अंत में 382.67 अंक या 1.04 प्रतिशत के लाभ से 37,000 अंक के स्तर के पार 37,054.10 अंक पर बंद हुआ. यह सेंसेक्स का 19 सितंबर, 2018 के बाद सबसे ऊंचा बंद स्तर है. उस दिन सेंसेक्स 37,121.22 अंक पर बंद हुआ था. शुक्रवार को सेंसेक्स 53.99 अंक या 0.15 प्रतिशत टूटकर 36,671.43 अंक पर बंद हुआ था. 

भगोड़े नीरव मोदी के खिलाफ तेज हुई कार्रवाई, ED ने दाखिल की नई चार्जशीट

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 132.65 अंक या 1.20 प्रतिशत के लाभ के साथ 11,168.05 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान इसने 11,172.40 अंक का उच्चस्तर भी छुआ जो इसका पिछले साल के 26 सितंबर के बाद का उच्चस्तर है. विशेषज्ञों का मानना है कि बाजार में उछाल आम चुनाव की घोषणा से आया है. माना जा रहा है कि भारत-पाकिस्तान सैन्य तनाव इन आम चुनाव में राजग के लिए एक प्रमुख मुद्दा होगा. 

अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में सोमवार को दोपहर के कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 21 पैसे की बढ़त के साथ 69.93 प्रति डॉलर पर चल रहा था. इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को 1,095.06 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 470.7 करोड़ रुपये की बिकवाली की.