close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

WTO में भारत के खिलाफ दायर शिकायत में शामिल होना चाहता है सिंगापुर और कनाडा

WTO ने एक सूचना में बताया कि दोनों देशों का कहना है कि आईसीटी उत्पाद क्षेत्र में उनका उल्लेखनीय हित है.

WTO में भारत के खिलाफ दायर शिकायत में शामिल होना चाहता है सिंगापुर और कनाडा
जापान पहले ही भारत के खिलाफ WTO पहुंच चुका है. (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली: सिंगापुर और कनाडा ने जापान द्वारा विश्व व्यापार संगठन (WTO) के विवाद निपटान निकाय में भारत के खिलाफ दायर मामले की विचार विमर्श प्रक्रिया में शामिल होने की इच्छा जताई है. जापान ने भारत के खिलाफ यह मामला मोबाइल फोन सहित कुछ सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) उत्पादों पर आयात शुल्क लगाने को लेकर दायर किया है. WTO ने एक सूचना में बताया कि दोनों देशों का कहना है कि आईसीटी उत्पाद क्षेत्र में उनका उल्लेखनीय हित है.

जापान ने 14 मई को भारत को कुछ इलेक्ट्रानिक उत्पादों जैसे कि सेल्युलर नेटवर्क के लिए टेलीफोन, रिसेप्शन मशीन और टेलीफोन सेट के कलपुर्जों पर आयात शुल्क लगाने के मामले में WTO में घसीटा है. जापान का आरोप है कि भारत द्वारा इन उत्पादों पर आयात शुल्क लगाना WTO नियमों का उल्लंघन है.

विमान सब्सिडी पर अमेरिका के खिलाफ शुल्क लगाने को तैयार यूरोपीय संघ

सिंगापुर ने अलग से जारी बयान में कहा है कि वह भारत के जापान के साथ विचार विमर्श में शामिल होना चाहता है. सिंगापुर ने कहा कि वह दुनिया का सबसे बड़ा आईसीटी उत्पादों का निर्यातक है. उसका सालाना निर्यात 120 अरब डॉलर का है. ऐसे में इस मामले में उसका व्यापारिक हित जुड़ा है.