close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोलर एनर्जी कार्पोरेशन की नीलामी में सौर बिजली दरें 2.5 रुपये प्रति यूनिट पर

सोलर एनर्जी कारपोरेशन आफ इंडिया (एसईसीआई) की 750 मेगावाट क्षमता की सौर परियोजनाओं के लिये सार्वजनिक क्षेत्र की एनटीपीसी, महिंद्रा ससटेन, हीरो सोलर एनर्जी और एज्यूर पावर मैपल बुधवार को सबसे कम बोली लगाने वाली कंपनियों के रूप में उभरी हैं.

सोलर एनर्जी कार्पोरेशन की नीलामी में सौर बिजली दरें 2.5 रुपये प्रति यूनिट पर

नई दिल्ली : सोलर एनर्जी कारपोरेशन आफ इंडिया (एसईसीआई) की 750 मेगावाट क्षमता की सौर परियोजनाओं के लिये सार्वजनिक क्षेत्र की एनटीपीसी, महिंद्रा ससटेन, हीरो सोलर एनर्जी और एज्यूर पावर मैपल बुधवार को सबसे कम बोली लगाने वाली कंपनियों के रूप में उभरी हैं. एक सूत्र ने बताया कि चारों कंपनियों ने एसईसीआई की बुधवार को हुई उल्टी नीलामी में 2.5 रुपये प्रति यूनिट की बोली लगायी. यह नीलामी राजस्थान 'ट्रेंच' दो (750 मेगावाट) के लिये हुई.'

सूत्र ने यह भी कहा कि एनटीपीसी ने 160 मेगावाट के लिये बोली लगायी जबकि महिंद्रा सस्टेन ने 200 मेगावाट के लिए बोली लगायी. इसी प्रकार, हीरो सोलर एनर्जी ने 250 मेगावाट तथा एज्यूर पावर मैपल ने 100 मेगावाट सौर क्षमता के लिये रुचि दिखायी. इस नीलामी के साथ एनटीपीसी ने राज्यों की शुल्क आधारित प्रतिस्पर्धी बोली में अब तक 505 मेगावाट सौर क्षमता हासिल कर ली है.

उल्लेखनीय है कि राजस्थान की भादला सौर परियोजनाओं के लिये मई 2017 में शुल्क दरें 2.44 रुपये प्रति यूनिट तक पहुंच गयी थी. इसके बाद भी कम-से-कम दो बार ऐसे मौके आये जब शुल्क दरें 2.44 रुपये प्रति यूनिट के निम्न स्तर तक आ गईं थीं. देश में 2022 तक नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता 1,75,000 मेगावाट पहुंचने का लक्ष्य है. इसमें सौर ऊर्जा क्षमता 1,00,000 मेगावाट सृजित करने का लक्ष्य है.