सरकार को आंतरिक चुनौतियों से निपटना चाहिए : टाटा स्टील

टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन ने आज कहा कि जबकि घरेलू इस्पात उद्योग चीन से चुनौतियों से जूझ रहा है सरकार को आंतरिक चुनौतियों से निपटना चाहिए।

जमशेदपुर : टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन ने आज कहा कि जबकि घरेलू इस्पात उद्योग चीन से चुनौतियों से जूझ रहा है सरकार को आंतरिक चुनौतियों से निपटना चाहिए।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘अगर सरकार कच्चे माल की उपलब्धता व आयात शुल्क जैसी आंतरिक चुनौतियों से निपट लेती तो हम और अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं क्योंकि इस्पात की मांग बढती रहती।’ नरेंद्रन ने कहा कि ऐसा नहीं है कि भारतीय उत्पादक कंपनियां वैश्विक कंपनियों की प्रतिस्पर्धी नहीं है क्योंकि ‘हमारे पांच छह इस्पात उत्पादक तो अब भी दुनिया के शीर्ष इस्पात उत्पादकों में शामिल हैं।’ 

चीन से मिल रही चुनौती के बारे में उन्होंने कहा कि चीन 82.5 करोड़ टन इस्पात का उत्पादन कर रहा है जबकि उसकी मांग 72.5 करोड़ टन ही है। यानी मांग से 10 करोड़ टन अधिक उत्पादन जो कि हमारे देश की मौजूदा कुल क्षमता से भी अधिक है। हमारी क्षमता इस समय 8 से साढे आठ करोड़ टन है। चीन 20-30 लाख टन का निर्यात कर रहा है जो कि हमारे बाजार को खराब कर रही है।