close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

‘सुपरस्टार’ कंपनियां काफी कुछ मुफ्त दे रही हैं, पर ऐसा कब तक चलेगा: रघुराम राजन

रघुराम राजन ने कहा कि हम जानते हैं कि कुछ भी मुफ्त नहीं आता, ऐसे में यह जानने की जरूरत है कि जब उपभोक्ता को कुछ मुफ्त में मिल रहा है तो उसके लिए कीमत कौन अदा कर रहा है.

‘सुपरस्टार’ कंपनियां काफी कुछ मुफ्त दे रही हैं, पर ऐसा कब तक चलेगा: रघुराम राजन
रघुराम राजन (फाइल फोटो)

दावोस: भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि आज उपभोक्ताओं को काफी फायदा हो रहा है क्योंकि नई प्रौद्योगिकी के इस दौर में कई सेवाएं काफी सस्ती या नि:शुल्क मिल रही हैं. हालांकि, उन्होंने सवाल किया कि देखने की बात यह होगी कि क्या यह आगे भी जारी रहेगा.

विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की सालाना बैठक के एक सत्र को संबोधित करते हुए राजन ने मंगलवार को कहा कि बड़े उद्योगों से हमें काफी फायदा हो रहा है. बड़ी कंपनियों से दक्षता का लाभ मिल रहा है. साथ ही उपभोक्ताओं को भी कम कीमत पर सेवाएं मिल रही हैं जिससे जनता को फायदा हो रहा है.

राजन ने उदाहरण देते हुए कहा कि गूगल कई सेवाएं मुफ्त में उपलब्ध कराती है. राजन शिकागो विश्वविद्यालय में पढ़ाते हैं. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि कुछ भी मुफ्त नहीं आता, ऐसे में यह जानने की जरूरत है कि जब उपभोक्ता को कुछ मुफ्त में मिल रहा है तो उसके लिए कीमत कौन अदा कर रहा है.

राजन ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से उन्हें कहीं और से पैसा मिल रहा है. हमें यह जानने की जरूरत है कि जब डाटा और प्रौद्योगिकी मंच की बात आती है तो क्या उपभोक्ताओं और विज्ञापनदाताओं के होने वाले राजस्व की तुलना की जा सकती है.’’ उन्होंने कहा कि हमें यह सोचने की जरूरत है कि क्या भविष्य में प्रतिस्पर्धा जारी रहेगी.

इस सत्र में वक्ताओं ने बड़े विलय, डिजिटल मंच और बाजार अनिश्चितताओं पर भी विचार किया. इस सत्र में भाग लेने वालों में बैंक आफ अमेरिका के प्रमुख ब्रायन टी मोयनिहान, गूगल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रूथ पोराट और ब्लैकस्टोन समूह के मुख्य कार्यपालक अधिकारी स्टीफन श्वार्जमैन शामिल हैं.

(इनपुट: एजेंसी भाषा से)